मिथिलाक विशिष्ट व्यक्तित्व परिचयः गंगानाथ झा (पंडित महामहोपाध्याय)

मिथिलाक ऐतिहासिक धरोहरः विशिष्ट व्यक्तित्व परिचय

मिथिलाक विशिष्ट व्यक्तित्व परिचयः गंगानाथ झा (पंडित महामहोपाध्याय)
 
– मूल आलेखः लक्ष्मी प्रसाद श्रीवास्तव (अनुवादः प्रवीण नारायण चौधरी)
 
दरभंगा जिलान्तर्गत सरिसवपाही गामक पंडित धरानाथ झा केर सुपुत्र गंगानाथ झा केर जन्म २५ दिसम्बर, १८७२ ई. मे भेलनि। ओ सरस्वती-सेवाक सम्मान प्राप्त कएलनि। गंगा बाबू ‘डी. लिट्’ केर उच्चतम् उपाधि एवं ‘एल.एल.डी’ केर उपाधि सँ कानूनक पाण्डित्यक प्रमाण प्रस्तुत कएने छलाह। देशी उपाधि मे सर्वश्रेष्ठ ‘महामहोपाध्याय’ केर विभूषण सेहो हिनका भेटलनि। अंग्रेजी राज्यक वर्चस्व-प्राप्ति होयबाक प्रमाण हिनका देल गेल ‘सर’ केर सम्मानित उपाधि मे भेटैत अछि।
अपना समय मे डा. सर गंगानाथ झा प्राच्य-विद्याक सर्वश्रेष्ठ ज्ञाता छलाह। वेद-पुराण, षट्-दर्शन, काव्यशास्त्र एवं संस्कृत वाङ्गमय केँ हस्तामलक कएनिहार ई सरस्वती-पुत्र द्वारा अपन सारस्वत व्यक्तित्व केर प्रभाव समकालीन ब्रिटीश शासक पर सेहो छोड़ने छलाह। ओ सम्पूर्ण संस्कृत काव्यशास्त्र केर अध्यापन अंग्रेजी माध्यम सँ कएने छलाह। हिनक कृति केर सूची निम्न अछिः
 
१. कतिपय दिवसोद्गम प्ररोह (पद्य)
२. वेला-माहात्म्य (पद्य)
३. भक्ति कल्लोलिनी (शाण्डिल्य भक्ति सूत्र केर पद्यबद्ध टीका)
४. भाव-बोधिनी (जयदेव-प्रणोत ‘प्रसन्नराधक’ केर टीका)
५. खद्योत (वात्सायन रचित ‘न्याय-भाष्य’ पर टीका)
६. मीमांसा-मंडनम् (मंडन मिश्र रचित मीमांसासनुक्रमणिका’ पर टीका)
७. प्रभाकर प्रदीप (पूर्व मीमांसा केर प्रभाकर सम्प्रदाय पर विमर्श)
(उपरोक्त सब रचना संस्कृत मे कएल गेल अछि) ।
 
८. प्रभाकर स्कूल अफ पूर्व मीमांसा
९. साधोलाल लेक्चर्स आन न्याय
१०. फिलासोफिकल डिसिप्लीन
११. हिन्दू ला एण्ड इट्स सोर्सेज
१२. शंकराचार्य एण्ड हिज वर्क्स फोर द अपलिफ्ट अफ द कन्ट्री
१३. पूर्व-मीमांसा अफ ‘जैमिनी’ इण्डियन थौट
(उपरोक्त सब रचना अंग्रेजी मे कएल गेल अछि)।
 
एहि सभक अतिरिक्त चारू वेद सहित लगभग ३० संस्कृत-ग्रन्थक अंग्रेजी अनुवाद सेहो हिनका द्वारा भेल अछि। डा. सर गंगानाथ झा मिथिलाक एहेन गौरव-स्तम्भ भेला जिनक विद्वता एवं ज्ञानमेघा पर भारत सदैव गौरवान्वित रहत। एहेन श्रेष्ठ एवं यशस्वी पिताक कीर्तिमूर्धन्य सुपुत्र भेलाह – डा. अमर नाथ झा।
 
हरिः हरः!!
पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 4 =