मिथिला महोत्सव अन्तर्गत कवि गोष्ठी आ सम्मान

मनीष कर्ण,जनकपुरधाम।३१मार्च २०१७.मैथिली जिन्दावाद !! कोलकत्ता।मिथिला विकास परिषदक आयोजनामें गत २०मार्च कऽ कोलकत्ताक केर विष्णुकान्त शास्त्री सभागृह स्थित बडाबजार लाइब्रेरीमें मिथिला महोत्सव २०१७ क तेसर पर्व सफलता पुर्वक सम्पन्न भेल छल।एहि अवसर पर नेपाल,दरभंगा,कोलकत्ता आ उपनगरीय कोलकत्ताक भारतीय संविधानमे मान्यता प्राप्त सभ भाषाक कवि तथा विद्वान लोकनि उपस्थित छलथि।प्रख्यात मैथिली हिन्दीक रचनाकार राजकमल चौधरीक स्मृतिमे आयोजित सम्मानक आलेख आ बहुभाषा काव्य संध्या कार्यक्रमकें मंचक नाम भोगेन्द्र झा,कुलानन्द मिश्र तथा महाप्रकाश मंच राखेल गेल छल।कार्यक्रमक शुभारम्भमे महाकवि विद्यापति द्वारा रचित भगवती वन्दना जय जय भैरवी एंव स्वागत गीत सुश्री गीता एंव आशा मिश्र द्वारा तथा परिषदक शीर्षक गीत गोपीकान्त झा मुन्ना द्वारा प्रस्तुत काएल गेल छल।तीन सत्रमे आयोजित उक्त कार्यक्रमक अध्यक्षता क्रमशः गीतेश शर्मा,अशोक झा आ राम भरोस कपाडि भ्रमर कएने छलाह तँ कार्यक्रमक संचालन अजय चौधरी आ भास्कर झा कएलनि। कार्यक्रमक उद्घाटन पूर्व नान्यधीश एंव मानवअधिकार आयोगक पुर्व अध्यक्ष श्यामल कुमार सेन,गीतेश शर्मा,समाजसेवी लक्ष्मीकान्त तिवारी आ प्रभात खवरक कोलकाता सम्पादक तारकेश्वर मिश्र कएने छलथि।

       कार्यक्रममें अशोक झा कहलनि कि कविता मुलतः भाव सँ अंकुरित होइत लिखावटक रुपमेँ पाठककेँ बीच पुस्पित पल्लवित होइत अछि।तहिना गीतेश शर्मा आजुक सर्वभाषी काव्य संध्या प्रायः लुप्त भऽरहल साहित्यक संस्कारकेँ नयाँ आयाम देत कहलनि।कार्यक्रममे पूर्व न्यायाधीश श्यामल कुमार सेन कार्यकमक उपस्थिति देखि कऽ हषिर्त होइत मिथिलाभाषीमे साहित्य प्रति पैघ इज्जत रहल उल्लेख कएलनि। पहिल सत्रमे दिनेश बजाज,पं.लक्ष्मीकान्त तिवारी,श्रृष्टि झा सहितक वक्तासभ अपन अपन विचार रखने छलथि।कार्यक्रमक दोसर सत्रमें गामघर सप्ताहिकक सम्पादक एंव वरिष्ठ साहित्यकार रामभरोस कापडि भ्रमर,मैथिलीक संस्कृतिवद् एंव साहित्यकार धीरेन्द्र प्रेमर्षी आ साहित्यकार चन्द्रेशकेँ क्रमशः ललित धीरेन्द्र सम्मान,यात्री नागार्जुन आ धूमकेतु सम्मान सँ सम्मानित कएल गेल। काठमान्डौं स्थित कान्तिपुर एफएम सँ प्रशारित हेल्लो मिथिला कार्यक्रमक संचालिका एंव चर्चित गायिका रुपा झाकेँ सेहो विशेष सम्मान सँ सम्मानित कएल गेल।कार्यक्रमक क्रममे सम्मानित अतिरिक्त दरभंगाक डा.बचरु पासवान,डा.महेन्द्र नारायण राम आलेख प्रस्तुत कएलनि ।

कार्यक्रमक अन्तिम सत्रमे विभिन्न भाषाक कवि सभमें ताराकान्त झा,भवनाथ झा,हेमेन भट्टाचार्य(असमीया),रमेश शर्मा(राजस्थानी)आ कामलेश्वर झा कमल(मैथिली)सहितक दर्जनो कवि लोकिन कविता पाठ कएने छलथि।

पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 5 =