Home » Archives by category » Editorial

विराटनगर मे मैथिल संचारकर्मी संघ केर गठन सँ मैथिलीभाषी मे प्रसन्नताक संचार

विराटनगर मे मैथिल संचारकर्मी संघ केर गठन सँ मैथिलीभाषी मे प्रसन्नताक संचार

विराटनगर, २१ मार्च २०२१ । मैथिली जिन्दाबाद!! मिथिलाक इतिहास मे अनेकन प्रसिद्धि लेल जानल जायवला मोरंगक्षेत्र आ वर्तमान समय नेपालक अत्याधुनिक औद्योगिक महानगर विराटनगर मे पैछला शनि (१३ मार्च २०२१) दिन नेपाल पत्रकार महासंघक पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सह मैथिली-नेपाली भाषा-साहित्यक चर्चित विद्वान् व्यक्तित्व धर्मेन्द्र झाक अभिनन्दन समारोह आयोजन भेल छल जाहि मे श्री झाक सम्मान-अभिनन्दनक […]

भाषाभटकाव मिथिला सभ्यताक अन्तक संकेत त नहि?

भाषाभटकाव मिथिला सभ्यताक अन्तक संकेत त नहि?

भाषाभटकल लोक   १९८७ ई. मे बाढि सँ बेहाली आयल। जहाँ-तहाँ नदीक तटबन्ध सब टूटि जेबाक कारण बेहिसाब पानि सँ खेत-पथार, एतेक तक कि खरिहान, घर-अंगना सबटा डूबि गेल छल। लोक खाना कोना पकायत ताहू लेल समस्या रहैक। ऊँच-ऊँच बान्ह आ घरक छत पर आश्रय लय येन-केन-प्रकारेण संघर्ष कय केँ प्राण-रक्षा मे लागल छल। शायद […]

एकर सच्चाई स्वयं निरीक्षण कय सकैत छी

एकर सच्चाई स्वयं निरीक्षण कय सकैत छी

ओ व्यक्ति सम्मान योग्य नहि   जे स्वयं अपन भाषाक सम्मान नहि करय ओ व्यक्ति सम्मान योग्य नहि भऽ सकैत अछि। हालांकि एहि भ्रम मे बहुतो लोक फँसल अछि, ओकरा अपना होइत छैक जे अपन भाषाक बदला हिन्दी या अंग्रेजी बाजब त लोक बेसी पैघ आ पढ़ल-लिखल विद्वान् बुझत, लेकिन ओकर स्वयं केर आत्मा पर्यन्त […]

प्रसंग अन्तर्राष्ट्रीय नारी दिवस केर – प्रवीण विचार

प्रसंग अन्तर्राष्ट्रीय नारी दिवस केर – प्रवीण विचार

अन्तर्राष्ट्रीय नारी दिवस विशेष अन्तर्राष्ट्रीय नारी दिवस २०२१   आर, अधिकार केर लड़ाई मे महिला अधिकार प्रति विश्व भरि मे सचेतना जगबाक/जगेबाक विशेष दिवस यानि ८ मार्च पर अपन माय, पत्नी, बहिन, बेटी सहित समस्त नारी समाज प्रति पूर्ण श्रद्धाक संग सम्मान आ वाजिब समान अधिकार लेल शुभकामना!!   अन्तर्राष्ट्रीय तथ्यांक मुताबिक एखन धरि महिलाक […]

मैथिलीभाषी जनमानस मे भाषिक जनजागरण अत्यावश्यक – समेकित अभियान शीघ्र संचालित होयत

मैथिलीभाषी जनमानस मे भाषिक जनजागरण अत्यावश्यक – समेकित अभियान शीघ्र संचालित होयत

विशेष सम्पादकीय सन्दर्भ नेपालक जनगणना २०७८ आ मैथिली भाषाक स्थिति पर सामाजिक चिन्तन विदिते अछि जे नेपालदेश मे एहि वर्ष २०२१ (विक्रम संवत साल २०७८) मे जनगणना होमय जा रहल अछि। भाषिक पहिचान केर आधार पर नेपालदेश मे नेपाली भाषाक बाद दोसर सर्वाधिक बाजल जायवला भाषा मैथिली केर छैक। पिछला जनगणनाक तथ्यांक सेहो एहि बातक […]

मीमांसा – मैथिली केर मर्यादा आ मिथिलाक लोकक मानहीनताक मूल कारण

मीमांसा – मैथिली केर मर्यादा आ मिथिलाक लोकक मानहीनताक मूल कारण

मैथिली पर पैसा आ जातिक दम्भ?   पैसाक दम्भ या जातिक दम्भ यदि मैथिली केँ आकर्षित करितय त इतिहास ओ नहि रहितय जे अछि। पुछू केना? रावण द्वारा मैथिली (सीता) केर अपहरण कयल गेल छल। रावण जातियो मे श्रेष्ठ आ सम्पदा मे सेहो श्रेष्ठतम् छल, स्वयं अपन भाइ कुबेर आ ओकर सारा सम्पदा हथिया लेने […]

नेपालक जनगणना आ ८० प्रश्न – भाषा सम्बन्धी ३ प्रश्न

नेपालक जनगणना आ ८० प्रश्न – भाषा सम्बन्धी ३ प्रश्न

नेपाल मे जनगणना प्रश्नावली (२०७८) केर प्रकाशन – पूछल जायत ८० प्रश्न केन्द्रीय तथ्यांक विभाग द्वारा किछु समय पूर्वहि १२म जनगणना आ संघीय लोकतांत्रिक गणतंत्रक नेपालक पहिल जनगणना मे केन्द्र, प्रदेश आ स्थानीय तह केर प्रत्येक वार्डक हरेक व्यक्ति ओ परिवार सँ संकलन कयल जायवला विवरण लेल कुल ८० प्रश्नक प्रश्नावली ‘राजपत्र’ मे प्रकाशित कय […]

सौराठ सभागाछी मे आब भव्य सभा लागत एकर गारन्टी अछि – २०२१ देत पैघ प्रमाण

सौराठ सभागाछी मे आब भव्य सभा लागत एकर गारन्टी अछि – २०२१ देत पैघ प्रमाण

पैघ खुशखबरी – सौराठ सभागाछीक पुनरूद्धार कार्य गति पकड़लक   विगत किछु समय सँ ऐतिहासिक सौराठ सभागाछी विकास समितिक सचिव आदरणीय डा. शेखर चन्द्र मिश्र काफी रास शुभ-खबरि (अपडेट्स) सब साझा करैत आबि रहला अछि। डा. मिश्र संग सहकार्य करबाक दिशा मे ‘दहेज मुक्त मिथिला’ अभियान २०११ सँ कयलक। २०११ मे पूरे भारतवर्ष सँ सैकड़ों […]

जनगणना मे मातृभाषाक प्रविष्टि मे मैथिली लिखेनाय नहि बिसरब

जनगणना मे मातृभाषाक प्रविष्टि मे मैथिली लिखेनाय नहि बिसरब

जनगणना मे मातृभाषा लिखेबाक महत्व एहि विषय पर १०० सँ २०० शब्द मे अपन-अपन विचार पठबय जाउ। मैथिली जिन्दाबाद मे प्रकाशनार्थ ई अनुरोध अछि। नेपाल मे २०२१ ई. (२०७८ विसं साल) मे ८ जून सँ २२ जून (जेठ २५ गते सँ आषाढ़ ६ गते) केर समयान्तराल मे जनगणना होबय जा रहल अछि। जनगणना मे व्यक्तिक […]

डर आ समाधान – मानव जीवनक विलक्षण दर्शन

डर आ समाधान – मानव जीवनक विलक्षण दर्शन

डर    मोन अछि? बच्चे सँ केना अपना सब केँ पहिने डर देखायल गेल आ फेर डर सँ बचबाक लेल बहादुरी सेहो सिखायल गेल? डर कय प्रकारक छल – भूत-प्रेतक डर, आँधी-बिहाड़िक डर, बिजली-पानि के डर…! लकड़सूंघा के डर, मघैया डोम के डर, गुन्डा-बदमाश के डर…! तहिना अन्जान बाट पर असगरे जेबाक डर, जंगल-झाड़ आदि […]

Page 1 of 38123Next ›Last »