Home » Archives by category » Article » Literature (Page 43)

मैथिलीक नव पोथी – अमित मिश्रक नया पुस्तक मैथिली मे

मैथिलीक नव पोथी – अमित मिश्रक नया पुस्तक मैथिली मे

मैथिली साहित्य मे बालक-बालिका लेल ई नव पोथी युवा साहित्यकार अमित मिश्र (समस्तीपुर) केर आबि रहल अछि। सूचना – मुकुन्द मयंक, पटना द्वारा फेसबुक पर पोस्ट करैत देल गेल अछि। विदित हो जे अमित मिश्र युवा तुरक नीक कवि अपन निरंतर क्रियाशीलता सँ मैथिली साहित्यकेँ पुष्ट कय रहला अछि। शिक्षण पेशा मे कार्यरत अमित द्वारा […]

आरक्षणक औचित्य: जाति केर आधार पर आरक्षण बन्द हो

आरक्षणक औचित्य: जाति केर आधार पर आरक्षण बन्द हो

आलेख जातियताक आधार पर आरक्षण कतेक हद तक उचित ?? – रंजित नारायण चौधरी आय पुरे देश मेँ एकटा गंभीर बीमारीक जगह लय लेलक आरक्षण। धीरे-धीरे और पसरले जा रहल अछि आ नैय जैन कौल्हका तारीख मे कोन गति होयत जातियताक आधार पर भेट रहल बीमारी ‘आरक्षणक’। एकटा समय छल जाहि दिन जातियताक आधार पर […]

जतय मैथिल, ततय मिथिला

जतय मैथिल, ततय मिथिला

– अजय मिश्रा, ग्राम: गलमा, जिला दरभंगा हरा गेल अछि पहिलुका सान गाछक लागल मालदह आम दही चुरा संग लोंगिया मिर्चाय मिथिला क माछ, पान, मखान। हरा गेल अछि ललका पाग मरुआ रोटी संग गोटक साग संस्कार अपन हरा गेल अछि केना क हैत एकादसी जाग। हरा गेल अंगना दुआइर सुखा गेल कमला आ धार […]

सुरुजक छाहरि मे – मनोज साण्डिल्यक पहिल पोथी प्रकाशित

सुरुजक छाहरि मे – मनोज साण्डिल्यक पहिल पोथी प्रकाशित

एखनहि सूचना भेटल अछि जे मनोज झा उर्फ मनोज साण्डिल्य नागदह (मधुबनी) निवासी, मैथिली लोक रंग सँ जुड़ल रंगकर्मी तथा मैथिली भाषा-साहित्यक सेवा मे निरन्तर लेखनी कएनिहार द्वारा अपन पहिल कविता संग्रह ‘सुरुजक छाहरि मे’ प्रकाशित कैल गेल अछि जेकर विमोचन आगामी १० मई, २०१५ हैदराबाद मे कैल जाय। मैथिली साहित्य सदैव स्वयंसेवा आ स्वस्फूर्त स्रष्टाक […]

मैथिली कवि एवं रेडियोकर्मी मणिकान्त झा केर अपील: प्राकृतिक त्रासदी भूकम्प पर संकलित साहित्यिक रचनाक प्रकाशन

मैथिली कवि एवं रेडियोकर्मी मणिकान्त झा केर अपील: प्राकृतिक त्रासदी भूकम्प पर संकलित साहित्यिक रचनाक प्रकाशन

अल ईण्डिया रेडियो – दरभंगा स्टेशन सँ मैथिली समाचारवाचक तथा मैथिली कवि – स्रष्टा सह भाषा अभियानी मणिकान्त झा अपन फेसबुक स्टेटस केर मार्फत सँ मैथिलीभाषी साहित्यकर्मी स्रष्टा सब सँ अपन पूर्वक अनुभव भीषण बाढि पर संकलित रचनाक प्रकाशन अति लोकप्रिय होयबाक बात कहैत वर्तमान नेपाल भूकंप जेकर प्रभाव सगरो मिथिलाक्षेत्र पर पड़ल अछि ताहि […]

गरीबीक पाछाँक मूल कारण कि?

गरीबीक पाछाँक मूल कारण कि?

गरीबी और जातियता एक समाचार पढलहुँ जे दरभंगाक बेनीपुर मे बिडियो आ पंचायती राज प्रतिनिधि बीच एकटा बैठक कैल गेल, बिहार राज्य मे एकटा नवका आयोग बनायल गेल अछि, सवर्ण राज्य आयोग तेकरे निर्देशन पर एकटा प्रपत्र दैत बिडियो द्वारा कहल गेल अछि जे अपना-अपना पंचायत सँ एहेन सवर्ण जातिक लोक केर नाम देल जाउ […]

हम तऽ बिक गेलियै दहेज मे

हम तऽ बिक गेलियै दहेज मे

हम तऽ बिक गेलियै दहेज मे (मैथिली कविता) – विजय मंडल भेल जन्म रहे हमर जमिन्दारक घरमे खुबे लाड़-प्यारसँ पोसलक पैसाके माहौलमे पढेलक बढेलक बड़का आदमी बनेलक  गर्ब सँ सबकेँ सुनेने घुरलक लागैत रहय हमरा हमर माइ बाप सँ बेसी प्यार कियो नै करय अछि एहि धरती पर हमरा सँ लायक कियो नहि हैत एहि […]

मैथिली गीत: उमाकान्त झा बक्शी

मैथिली गीत: उमाकान्त झा बक्शी

मैथिली गीत   फूलहुँ सँ कोमल काया अछि, मधुरस संचित अछि ठोर हमर। हम रातुक सजल इजोरिया छी, उजड़ल उपटल सन भोर हमर। फूलहुँ सँ कोमल काया अछि.……… अपराध हमर कि पाप हमर, नारी जीवन कि शाप हमर। नारी स्वभाव, नारीके चरित, उपहार तोहार, अभिशाप हमर। दुःख दर्द शोक संताप भोग, जग पोछि सकल नहि […]

चिन्ता नहि, कर्म करू!

चिन्ता नहि, कर्म करू!

मैथिलीसेवी सँ मैथिली (सीताक) पुकार: – प्रवीण नारायण चौधरी चिन्ता नहि कर्म करू, हम आबि रहल छी डेग आगू बढि चलू, हम देखि रहल छी जुनि बुझू माँ हेरा गेली, हम संग ओतै छी सत्यमार्गी बनल रहू, हम बुझि सकै छी हर क्षण बदले देश, प्रकृति तहिना छै मुदा न बदले सत्य, एकटा सत्य इहा […]

सुनू भाइ हमर पुकार

सुनू भाइ हमर पुकार

सुनू भाइ हमर पुकार – प्रवीण नारायण चौधरी मातृभाषा संग शत्रुता – भेषहु केर प्रतिकार पहिरि धोती चमकि देखा – भेटत कि अधिकार!! पसरल अछि अशिक्षा – कूरीतिक अंबार जातिवादी सम दावानल – दूर केना अँधकार!! माँगय छी समदृष्टि सँ – समावेशीक सरकार दंभ भरल संख्याबल केर – बेसीक नेता भरमार!! विद्या-बुद्धि आ पौरुषबलकेँ – […]