नेपाल मे प्रदेश सभा आ प्रतिनिधि सभाक चुनाव मे आब मात्र ७ दिन

Pin It

संपादकीय

नवम्बर ३०, २०१७. मैथिली जिन्दाबाद!!

नेपाल मे चुनावक आब सिर्फ ७ दिन बाकी
 
नेपाल मे प्रतिनिधि सभा तथा प्रदेश सभाक चुनाव सोझाँ अछि, ३२ गोट जिला मे मंसीर १ गते यानि नवम्बर २६ तारीख केँ सम्पन्न भऽ चुकल अछि आर आब ४५ गोट शेष जिला मे मंसीर २१ गते यानि दिसम्बर ७ तारीख केँ होयत।
 
मुख्य प्रतिद्वंद्वी सिर्फ दुइ गठबंधन अछि – एक, बाम गठबंधन आ दोसर काँग्रेस गठबंधन। एहि देश मे पहिने बाम दल दुइ गोट पैघ आ छोट-छोट सेहो गोटेक रास छल, तहिना अपना केँ लोकतंत्रक रक्षक कहयवला नेपाल केर सबसँ पुरान राजनीतिक दल नेपाली काँग्रेस सेहो एकटा लोकतांत्रिक धारा सब केँ एक कय गठबंधन संस्कृति मे चुनाव लड़ि रहल अछि।
 
मधेश आ मधेशीक संग अन्य विभिन्न उत्पीडित समुदायक मांग पर संघर्ष कयनिहार राजनीतिक दल सब सेहो चुनावी प्रतिस्पर्धा मे अछि, लेकिन जेना बड़ी मछली छोटी मछली को खा जाती है तहिना ई छोट-छोट राजनीतिक दल केर अस्तित्व वर्तमान समय संकट मे देखल जा रहल छैक। एतय थ्रेसहोल्ड केर एक गंभीर नियम सँ एक निश्चित प्रतिशत मत प्राप्त करबाक नियम लगा देल गेलाक बाद विभिन्न राजनीतिक दल आपस मे मिलिकय चुनाव लड़य लेल बाध्य भेल अछि। तैँ एहि पीडित – उपेक्षित समुदाय लेल एक बेर फेर किंकर्तब्यविमूढताक हालत स्पष्ट देखल जा रहल अछि। न त ढंगक उम्मीदवार ठाढ कयल जा सकल अछि, नहिये तेहेन कोनो एग्रेसिव प्रोपेगन्डा कतहु जमीन पर देखि पबैत छी – तखन ई छोट-छोट क्षेत्र आ वर्गक प्रतिनिधित्व करयवला दल पहिनहि जाहि तरहें मुद्दा प्रवेश करा चुकल अछि तेकरा पूरा करय लेल पैघ राजनीतिक दल केँ जिम्मेवारी गछल पड़तैक। आर तेहेन परिस्थिति मे काँग्रेसी गठबंधन तथा बाम गठबंधन दुनू अपना-अपना तरहें मधेशी जनता केँ पोल्हाबय मे लागल अछि।
 
मधेशवादी दल केर नेताक चरित्र आ व्यवहार मे पहिनहि जतेक शिकायत आम जनमानस देखलक ताहिक कारण तथा मधेशक मुद्दा कालान्तर मे २२ जिला सँ घैटकय मिथिलाक्षेत्रक ८ जिला मे सिमैट जेबाक कारण, मधेशवादी दल द्वारा सेहो अपन अस्तित्व केँ बचेबाक लेल सिर्फ ८ जिला मे सम्पूर्ण ध्यानकेन्द्रित केला सँ आन भाग मे कोनो खास प्रतिस्पर्धा होएत नहि देखा रहल अछि। स्पष्टतः मधेशवादी दल केर जे किछु अस्तित्व बाँचत ओ मात्र प्रदेश २ सँ। परञ्च मधेशक यथार्थ आकार आ समान नागरिक अधिकारक महत्वपूर्ण मांग पैघ-पैघ दुइ गठबंधनक हाथ मे निहित अछि, एहि मे कोनो दुइ मत नहि।
 
दुइ मुख्य गठबंधन मे बाम गठबंधन जाहि तरहें देश मे एकटा राष्ट्रवादक चर्चा चलाकय मतदाता केँ अपना तरफ गोलबन्दी कयलक अछि, तहिना दोसर लोकतांत्रिक गठबंधन अपन पूर्वक योगदान आ राष्ट्र प्रति सार्थक चिन्तन सँ कयल गेल परिवर्तन आदिक सन्दर्भ दैत मतदाता केँ अपना तरफ गोलबन्द कय रहल अछि। एहि रस्साकस्सी मे तेसर प्रमुख घटक राष्ट्रीय प्रजातांत्रिक पार्टी यानि राजावादक समर्थक राजनीतिक दल केर प्रतिस्पर्धा सँ ई चुनावी खेल रोमांचक भऽ गेल अछि। ई मानल बात छैक, जेना पूर्वक चुनावी परिणाम आ हालहि सम्पन्न स्थानीय निकायक चुनावक परिणाम अनुसार जे ट्रेन्ड देखायल, बाम गठबंधनक पलड़ा बेसी भारी छैक। तखन नवस्थापित नया संविधान केँ लागू करबाक वास्ते ई चुनाव अति आवश्यक छैक, ताहि हेतु सब कियो चुनाव पार लगाबय लेल अपन अनुरूप कार्य मे व्यस्त अछि। अन्तिम निर्णय चुनावी परिणाम मात्र बताओत।
 
हरिः हरः!!
पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 + 5 =