दिल्ली मे सम्पन्न भेल मैथिल वर-वधू परिचय सम्मेलनः ऐतिहासिक भीड़ जुटल

Pin It

नवम्बर ६, २०१७. मैथिली जिन्दाबाद!!

दिल्ली मे रचल गेल इतिहासः मैथिल समन्वय समितिक वर-वधू परिचय सम्मेलन
 
एखन विस्तृत समाचार आयब शेष अछि – धरि प्रत्यक्ष सहभागी आ फेसबुक लाइव कयनिहार विभिन्न स्रोत केर माध्यम सँ ई आयोजन मे सर्वाधिक भीड़ जुटबाक ‘इतिहास’ रचल गेल अछि। यथार्थतः मैथिल समन्वय समिति आ एहि सँ जुड़ल स्थानीय सहयोगी लोकनि धन्यवादक पात्र मानल जेता जे असीम भीड़ जुटेबा मे सफल भेलाह। दिल्लीक सिरिफोर्ट आडिटोरियम केर क्षमता सँ अधिक लोक जुमि गेलाह। अन्त मे प्रशासनक मदैद सँ हजारों लोक केँ प्रवेश पर रोक लगायल जेबाक बात सेहो सोझाँ आयल।
 
कार्यक्रमक प्रमुख अतिथि बिहार सरकारक मंत्री नन्दकिशोर यादव छलाह, विशिष्ट अतिथि राज्यसभा सांसद एवं भाजपाक वरिष्ठ नेता प्रभात झा, तहिना आयोजक संस्थाक परिकल्पक डा. सन्दिप झा, अध्यक्ष प्रेमचन्द्र झा सहित सम्पूर्ण कार्यकर्ता-पदाधिकारी एवं दिल्ली संयोजनक प्रमुख कुमकुम झा व अन्य लोकनिक मौजुदगी मे ई कार्यक्रम सम्पन्न भेल।
 
मैथिली ठाकुर केर भैरवि वन्दना ‘जय जय भैरवि’ केर गान एवम् डा. चन्द्रमणि रचित प्रसिद्ध स्वागत गान ‘मंगलमय दिन आजु हे पाहुन छथि आयल’ केर गान सँ हजारों दर्शक-श्रोता एवम् मंचासीन अतिथिगण रोमांचित होएत रहलाह। मंचक संचालन सत्र अनुरूप किसलय कृष्ण एवं पंकज झा द्वारा कयल गेल। अपुष्ट समाचार भेटल जे हिन्दी मे सेहो मंच संचालन कयल गेल।
 
एहि अवसर पर कार्यक्रमक उद्देश्य आ मिथिलाक सरोकार सँ जुड़ल विभिन्न चर्चा वक्ता लोकनि उद्घाटन सत्र मे रखलनि। प्रभात झा द्वारा पुनौराधाम मे जानकी केर भव्य मन्दिर बनेबाक आ सौंसे संसार सँ पर्यटक केँ एतय आकर्षित करबाक वचनबद्धता प्रकट कयल गेल। तहिना प्रमुख अतिथि नन्दकिशोर यादव द्वारा मिथिलाक विकास बिना बिहारक विकास नहि होयबाक उक्ति दोहरबैत अपन कर्मठ प्रयास सँ विकासक अनेक कार्य करबाक बात दोहरेलनि। ओ कहलनि जे लगभग २२ हजार करोड़ टकाक योजना केँ लागू कयल गेल अछि, एकर विवरण सेहो ओ उपस्थित विशाल जनसमुदाय केँ करौलनि।
 
कार्यक्रमक दोसर सत्र वर-वधू परिचय केर छल जेकर संचालन करैत लगभग एक दर्जन वर ओ वधू केँ मंच पर बजाओल गेल छल। अपन-अपन परिचय दैत वर आ वधू मंच पर प्रस्तुत भेलाह। संचालक किसलय कृष्ण द्वारा आरो वर-वधू जे अपन परिचय संस्था केँ पठौने छलाह तिनका सँ अपन उपस्थिति दर्ज करेबाक लेल ग्रीन रूप दिश एबाक आ आयोजक सँ सम्पर्क करबाक संकेत देल गेल। मंच पर प्रस्तुत वर एवं वधू केँ प्रमुख अतिथि यादव एवं डा. झा केर हाथ सँ प्रेमक प्रतीक चिह्न सौंपल गेल।
 
कार्यक्रमक तेसर सत्र मे मैथिली भाषा-साहित्यक वरेण्य साहित्यकार श्याम दरिहरे, शेफालिका वर्मा सहित अन्य व्यक्तित्व सब केँ माला, दोपटा आ सम्मानपत्रक संग सम्मानित कयल गेल।
 
सांस्कृतिक कार्यक्रम मे विकास झा वीजे, मैथिली ठाकुर सहित अन्य गायक-कलाकार लोकनिक प्रस्तुति अपन सुन्दर छटा सँ कार्यक्रमक रंग मे चारि चान लगा देलक। विभिन्न नृत्य समूह द्वारा मिथिलाक लोकगीत जट-जटिन केर गीत पर नृत्यक संग अन्य प्रस्तुति सब सेहो कयल गेल। उपस्थित हजारोंक जनसंख्या मे दर्शक सब अपना केँ मिथिला सँ दूर एक विशिष्ट मिथिला मे पहुँचि जेबाक भान करैत रहलाह। अन्तिम मे भव्य प्रीति भोजक संग कार्यक्रम समापन कयल गेल।
 
एतेक भव्य आयोजन मे मैथिल केर रूप मे सिर्फ ब्राह्मण टा पहुँचि पेलाह, एकर अफसोस विज्ञजन मे देखल जा रहल अछि। महीनों-महीनाक तैयारी मे गैर-ब्राह्मण जातिक मैथिल समुदाय केँ नहि जोड़ि सकबाक असफलताक जिम्मेवारी केकरा पर देल जाय ई समय द्वारा समीक्षाक विषय थिक। तखन ईहो सच छैक जे ब्राह्मण जातिक अतिरिक्त आरो समुदाय सँ वर-कन्याक परिचय नहि आबि सकबाक कारण ई कमी रहि गेल हो।
 
हरिः हरः!!
 
फोटोः उपस्थित भीड़क – साभार – पंकज प्रसून
पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 + 1 =