मिथिला मे सेहो हो स्टार्टअप इंडियाक क्रान्तिकारी शुरुआतः सिद्धार्थ झा, अबेरुक डट कम संस्थापक

Pin It

बंगलौर, २८ फरबरी, २०१७. मैथिली जिन्दाबाद!!

वर्तमान युग जतय एक दिश मोबाइल-कंप्युटर मार्फत इन्टरनेट सँ उपलब्ध सोशल साइट आदि पर निर्भर करय लागल अछि ताहि समय ‘बुक्स आर द बेस्ट फ्रेन्ड्स’ – पोथी मनुष्क सब सँ नीक मित्र थिक – ई कहिनीक महत्व सेहो दिन-प्रतिदिन घटैत जा रहल अछि। संकेत ईहो भेटैत अछि जे नीक-नीक किताबक क्रय आर संग्रह करय मे गर्वक अनुभूति करनिहार पुस्तकप्रेमीक संख्या कम होएत-होएत अन्त मे लोप भऽ जायत। मिथिलाक हृदयस्थली मधुबनी मे जन्म लेनिहार आ नन्दन, चम्पक, नन्हे सम्राट आदि बाल पत्रिका पढैत पैघ भेल सिद्धार्थ झा केर मान्यता ठीक एकर बिपरीत अछि। सिद्धार्थ केँ विश्वास छन्हि जे हरेक मनुष्य मे पढबाक जिगेसा होएत छैक। जरुरी मात्र एतबेक छैक जे एहि जिगेसा केँ सही दिशा देल जाय आर महग-सँ-महग किताब सब उचित दामपर उपलब्ध करेबाक। तैँ, सिद्धार्थ अपन बालसखा सिद्धार्थ कुमार संग मिलिकय बिहारी लफ्ज ‘अबे रूक’ केर अति-प्रचलित संबोधनक भावना संग एकटा आनलाइन प्लेटफार्मक स्थापना कएलनि अछि जे पूर्णरूपेण किताबक दुनिया लेल समर्पित अछि। एतय सस्ता दामपर आ काफी सहजे तरीका सँ नव आ पुरान किताब उपलब्ध करायल जाएछ। एहि वेबसाइट पर लगभग ५ लाख सँ बेसी अलग-अलग विषय आर जनतब दैत किताब सब उपलब्ध अछि। एहि वेबसाइटपर अहाँ सब तरक किताबक आनन्द लय सकैत छी। स्कूलक पाठ्य-पुस्तक सँ लैत विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा आ सिविल सर्विस परीक्षा आदिक तैयारी हेतु सेहो एहि वेबसाइट द्वारा अनेकानेक विकल्प राखल गेल अछि। एहि कारण बहुत कम्मे समय मे ई वेबसाइट फ्लिपकार्ट आ अमेजन जेहेन पैघ-पैघ कम्पनी केँ पर्यन्त कड़ा प्रतिस्पर्धा देलक अछि। ई जनतब सिद्धार्थ झा मैथिली जिन्दाबाद डट कम केँ देलनि अछि।

किछु अलग करबाक लक्ष्य आ महात्वाकांक्षाक संग इंजिनियरिंग केर पढाई कएला उपरान्त टोयोटा कम्पनीक नौकरी सँ हँटिकय सिद्धार्थ मात्र निज सपनाक पाछू लागि गेलाह आर एहि क्रम मे ई अबेरुक.कम – Aberuk.com केर शुरुआत कएलनि। हुनक ई प्रयत्न विदेश मे किताबक आनलाइन दुनियाक गहन अध्ययनक परिणाम मानल जाएछ।

भारतक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीक स्टार्टअप इंडिया आ डिजिटल इंडिया जेहेन क्रान्तिकारी पालिसी सँ प्रेरित सिद्धार्थ द्वारा आरम्भ उपरोक्त उपक्रम मिथिलाक युवा पीढी लेल एकटा प्रेरणाक स्रोत थिक। सिद्धार्थ अपन सपना केँ भागिरथक सपना सँ तूलना करैत कहैत छथि जे जहिना भागिरथ अपन पुरखा केँ मोक्ष दियेबाक लेल गंगाक अवतरण लेल तपस्या कएलनि, किछु तहिना हम अपन सपना मिथिलाक युवा सब केँ प्रेरित करबाक लेल किछु नव आ क्रान्तिकारी उपक्रम ठाढ करबाक लेल देखने रही। अबेरुक डट कम केर सफलता सँ उत्साहक संग उर्जा सेहो भेटल अछि जे अपन मिथिलाक युवा समाज केँ आब स्टार्टअप कम्पनी शुरु करबाक लेल हम भरपूर सहयोग कय सकब। हमर ऐगला सपना यैह थिक।

सिद्धार्थ एखन ३० वर्ष पूरा नहि कएलनि अछि लेकिन एतेक कम उम्र मे एकटा सफल उद्यमी बनबाक सपना पूरा कय लेलनि अछि। हुनक ऐगला सपना मे संपूर्ण मिथिलाक युवा लेल हितकर योजना अछि। आब ओ मिथिला एंजिल नेटवर्क (MAN) केर नाम सँ उधम् पूँजी निधि (VC Fund) केर आरम्भ करता। ई उधम् पूँजी निधि मिथिलाक युवा सब केँ स्टार्टअप कम्पनी स्थापित करय मे मददगार होयत। हुनकर मानब छन्हि जे ई उधम् पूँजी निधि प्रधानमंत्री मोदी केर स्टार्टअप इंडियाक सपना केँ मिथिला धरि पहुँचेबाक एकटा क्रान्तिकारी पहल होयत।

पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 4 =