योग प्रशिक्षिका काजल चौधरी द्वारा लाइव टिप्स दहेज मुक्त मिथिला पर

31 अक्टूबर 2020 । मैथिली जिन्दाबाद!!

सामाजिक संजाल केर लोकप्रिय अभियान दहेज मुक्त मिथिला केर फेसबुक समूह पर योग प्रशिक्षिका काजल चौधरी आइ सन्ध्या साढ़े 5 बजे लाइव आओती, ई जनतब समूह संचालिका वन्दना चौधरी देलीह।

वर्तमान युग मे खानपान केर प्रकृति आ पाक पद्धति बदैल जेबाक कारण, जीवनशैली सेहो पहिने के तुलना काफी अलग आ शरीर केँ बेसी आरामदायक बनेबाक कारण, वातावरण में प्रदुषण आ पर्यावरण में अनेकों खतरनाक हवा घुलित होयबाक कारण, खाद्यान्न प्रकृति आ खाद बीज सेहो बदैल जेबाक कारण, मानव जीवन कय तरहक रोग आ अवसाद सँ त्रस्त अछि। एहेन दुरावस्था में योग आ व्यायाम सँ जीवन केँ नियमित, नियंत्रित आ बीमारी रहित बनायल जेबाक अचूक उपाय उपलब्ध अछि।

मिथिला केर कतेको गणमान्य योगगुरु व प्रशिक्षक पूरे विश्व मे उप्लब्धिमूलक नाम प्रतिष्ठा अर्जित कयलनि अछि, एहि क्रम केँ आगू बढ़ा रहली अछि दिल्ली सँ काजल चौधरी। सामैर सीतामढ़ी जिलाक छोट गाम थिकैक, परञ्च शिक्षित आ सुसंस्कृत गाम केर रूप में जानल जाइछ। चकौती आ यजुआर आदि नामी गाम सब सेहो एतहि आसपास पड़ैत अछि। काजल चौधरी एहि गाम सँ भारतक राजधानी दिल्ली धरि अपन शिक्षा व संस्कार केँ स्थापित कयलीह अछि।

मूलतः टीचर्स ट्रेनिंग कय मास्टर्स डिग्री हासिल कयल काजल चौधरी पिछला 11 वर्ष सँ योग प्रशिक्षिका केर तौर पर दिल्ली में अपन प्रशिक्षण केन्द्र संचालित कय रहली अछि। मोरारजी नेशनल इंस्टीच्युट सँ योग मे स्नातक तथा उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय सँ मास्टर्स केर शिक्षा सेहो हासिल कएने छथि। हिनक विवाह भेल परिवार सेहो योग केर क्षेत्र मे काफी सुनामी-सुप्रतिष्ठित छथि, स्वयं ससुर योगगुरु आर के चौधरी छथिन। श्री चौधरी दिल्ली में सुप्रसिद्ध योगगुरु धीरेंद्र ब्रह्मचारी सँ योग प्रशिक्षण केर विधिवत विद्या अर्जित कयलनि। काजल जीक पतिदेव राघवेश चौधरी सेहो पिछला 25 वर्ष सँ योग प्रशिक्षक केर रूप में दिल्ली में नाम आ प्रतिष्ठा अर्जित कयने छथि। काजल जी कहली जे हुनक विशेषज्ञता महिला स्वास्थ्य आ तंदुरुस्ती पर केंद्रित छन्हि।

दहेज मुक्त मिथिला पर प्रस्तावित लाइव केँ पुनः खुलल पेज सँ सेहो शेयर कयल जेबाक जनतब वन्दना चौधरी देलन्हि। संगहि आजुक लाइव सँ दहेज मुक्त मिथिला केर प्रत्येक सदस्य केँ जुड़िकय एकर भरपूर लाभ उठेबाक आग्रह सेहो ओ कयलीह अछि।

दहेज मुक्त मिथिला केर संस्थापक प्रवीण नारायण चौधरी द्वारा एहि लाइव केर सराहना करैत अपना सँ जुड़ल जिज्ञासा राखल गेल अछि। ओ लिखलन्हि अछि:

वाह, बहुत नीक लागल ई सूचना पढ़िकय। काजल जीक हार्दिक स्वागत। हमर अनुरोध:

१. मानसिक तनाव केँ घटेबाक लेल संछिप्त समय मे कोन तरहक योग कय सकैत छियैक।

२. सुगर आ बीपी नियंत्रण में रखबाक लेल कोन कोन समय मे कि सब व्यायाम आ योग करब उचित होयत।

३. भोरे सुतिकय उठला उपरान्त बेर छींक अबैत छैक, एहि तरहक एलर्जी सँ बचबाक उपाय।

४. हमर धर्मपत्नी केँ कतबो मना करैत छी जे उच्च आवाज में नहि बाजू बच्चा सब सँ, मुदा हुनकर प्रकोप दिन प्रतिदिन बढ़िते जा रहल देखैत छियनि। त एहि तरहें देवी सभक क्षणही तुष्टा आ क्षणही रुष्टा रोग लेल सेहो कोनो उपयुक्त कदम जँ हो त कनेक एहि पर वक्तव्य आबय।😊

शेष सब किछु शुभ हो! काजल जी केँ अग्रिम आभार!💐💐💐

पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + 5 =