सर्दी में होयत कोरोना आरो खतरनाक, आइब सकैत अछि दोसर लहर : नीति आयोग

नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल कहला जे कोरोना वायरस के मामला और मृत्यु केर तथ्यांक में गिरावट आयल अछि। ई महामारी देश केर विभिन्न राज्य में सेहो फैलल अछि। यद्यपि, सर्दी केर मौसम में कोरोना संक्रमण के दोसर लहरक संभावना के नजरअंदाज नई करल जा सकैत अछि। देश में कोरोना वायरस केर डर निरंतर बनल रहैत अछि। हर दिन कोरोना वायरस के नया मामला सामने आबि रहल अछि। यद्यपि, पिछला तीन हफ्ता स नया कोरोना वायरस के मामला और डेथ रेट में काफी गिरावट आयल अछि। ओहि ठाम नीति आयोग के ई कथन अछि जे सर्दी के मौसम में कोरोना वायरस के संक्रमणक दोसर लहर सेहो देखल जा सकैत अछि।

 

नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल कहला जे गत तीन साता में कोरोना वायरस के केसेस और मृत्यु के तथ्यांक में गिरावट देखल गेल अछि देश के विभिन्न राज्य में ई महामारी फैल चुकल अछि। यद्यपि, सर्दी महीना में कोरोना संक्रमण के दोसर लहर के संभावना बैढ सकैत अछि। पॉल देश में महामारी केर विरुद्ध लड़बाक प्रयास सब समन्यव करनिहार एक विशेषज्ञ प्यानल केर प्रमुख सेहो छैथ। पॉल के कथन छैन जे एक बेर कोरोना केर वैक्सीन उपलब्ध भ जायत ओकर बाद ओहिठाम वितरण करै लेल पर्याप्त मात्रा में स्रोत सब के व्यवस्था कएल जायत। पॉल एक साक्षात्कार में पिटीआई के कहला जे “भारत में गत तीन हप्ता में नयाँ कोरोना केसेस कम हेबाक संगे भाइरस के कारण होइ वला मृत्यु सेहो कम भ गेल अछि। अधिकतर राज्य सब में महामारी स्थिर भ गेल अछि। यद्यपि उल्लेखित पांच राज्य यानी केरल, कर्नाटक, राजस्थान, छत्सीसगढ़ और पश्चिम बंगाल लगायत ३-४ टा केंद्र शासित प्रदेश अछि, जत की एखनो कोरोना के बढ़ैत प्रवृति देखै में आइब रहल अछि।

पॉल के अनुसार भारत एखन नीक स्थिति में अछि लेकिन देश के एखनो बड़ लंबा आरो कठिन यात्रा तय करबाक छै । कियाकि ९०% लोग एखनो कोरोना वायरस संक्रमण के ल क अतिसंवेदनशील छैथ। अहि प्रसंग में किछ उदाहरण दैत पॉल इहो कहला जे यूरोप में सेहो सर्दी के शुरुआत होइते देरी देश में  कोरोना मामला के पुनरुत्थान देखै में नजर एल छल । तहिना भारत में सेहो अपना सबके अहि विषय के गंभीरता पूर्वक लैत सतर्कता अपनेनाई बड़ जरूरी अछि। उत्तर भारत में शीत और त्योहार के ई मौसम में प्रदूषण के वृद्धि देखै में नज़र आयल अछि। अपना सबके सतर्क रहनाइ बहुत जरूरी भ गेल अछि। चुनौती बहुत अछि। नयाँ मामला के संख्या में आयल गिरावट प्रति अवस्था के बुझैत सावधानी अपना क महामारी के रोकबाक निरन्तर प्रयास करबाक आग्रह केने छैथ।

कम्युनिटी ट्रांसमिशन
ओहि ठाम संडे संवाद संगे अन्तरवार्ता में स्वास्थ्य मंत्री, हर्षवर्धन राणा ई स्वीकार केला जे कोरोना संक्रमण कम्युनिटी ट्रांसमिशन केर चरण में पहुँच चुकल अछि। अहि संगे हर्षवर्धन इहो स्पष्ट केला जे ई समस्या देश भैर में नै बल्कि किछ जिल्ला सब में देखै में आयल अछि।

पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 1 =