विद्यापतिक कर्मभूमि देवकुली मे बनतनि महाकविक प्रतिमा, समिति गठन कयल गेल

मुरारीकुमार झा ‘पुरातत्व’, देवकुली, दरभंगा। २५ अगस्त २०१९. मैथिली जिन्दाबाद!!

देवकुली में कवि कोकिल विद्यापति प्रतिमा अनावरण समिति केर भेल गठन

आइ दिनांक 25/08/2019 केँ “कवि कोकिल विद्यापति प्रतिमा अनावरण समिति” केर प्रथम बैठक कवि कोकिल विद्यापति केर कर्मभूमि और मिथिला केर राजधानी देवकुली स्थित वर्धमानेश्वर नाथ महादेव मंदिर प्रांगण मे श्री संतोष कुमार झा केर अध्यक्षता मे आयोजित कयल गेल। बैठक मे सर्वसम्मति सँ निर्णय लेल गेल जे बाबा वर्धमानेश्वर नाथ महादेव मंदिर परिसर मे कवि कोकिल केर प्रतिमा स्थापित कयल जायत तथा सम्पूर्ण प्रांगण केँ मिथिला चित्रकला सँ सुसज्जित कयल जायत। बैठक केँ संबोधित करैत सामाजिक कार्यकर्ता श्री कृष्णभगवान झा कहलनि कि “सर्वविदित अछि जे कवि कोकिल विद्यापति जीक जन्म स्थल बिस्फी, कर्मस्थल मिथिला केर पूर्व राजधानी देवकुली और मोक्ष प्राप्ति स्थल चमथा थिक। आइ स्थिति ई भऽ गेल अछि जे कवि कोकिल अपनहि घर मे अपनहि लोकक स्मरण सँ विस्मृत भेल जा रहल छथि।” मुरारी कुमार झा(पुरातत्व) बजलाह जे उक्त स्थल ऐतिहासिक दृष्टिकोण सँ हजारों वर्ष प्राचीन अछि जेकर पुरातात्विक प्रमाण मौजूद अछि।” बतबैत चली जे पिछला वर्ष 11 मई 2018 केँ एतय सँ 4थी-5वीं शताब्दी केर एक शिवलिंग प्राप्त भेल छल जे वर्तमान मे दरभंगा केर महाराजाधिराज लक्ष्मीश्वर सिंह संग्रहालय मे मौजूद अछि। बैठक केर उपरांत स्थल निरीक्षण कय प्रतिमा अनावरण स्थल केर चयन कयल गेल। बैठक मे उपस्थित सदस्यगण एवं अन्य लोक: सुधीर महतो, मनोज महतो, हरी कुमार साह, पंकज कुमार साह, शंकर कमती, विपिन झा, सज्जन झा, गणेश झा, सोनू झा, कुमरजी झा, अंजनी कुमार झा, रमन झा, रौशन झा आदि आदि सैकड़ों लोक उपस्थित भेलाह।

पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 2 =