मिथिला मे उद्योग व्यवसायक शिथिलता पर अपन युवा विचार – सुधीर मिश्र

Pin It

वर्तमान मिथिला मे औद्योगिक वातावरण शिथिल कियैक अछि, आउ पढी सुधीर मिश्र केर विचारः

मिथिलांचल सब दिन स साहित्य क गढ़ रहल हैं, मधुबनी पेंटिग विश्व भरि में फेमस अछि, पान, मखान आ माछ उत्पादक होय के बाबजूद व्यपार किया न बढ़ि रहल य किछ कारण।
 
१) शिक्षा क्षेत्र – जे सब निक छात्र रहे य वो सब त पलायन कय जाय य और ओहि में से बेसी सरकारी नौकरी में चलि जाय छैथ और हुनका लेल समाज के दायित्व लगभग ख़त्म भय जाय य, हाँ जे किछ गोटे बचेत छैथ वो किछ कोशिश करे छैथ मुदा समाज में सरकारी नौकरी के अतेक महत्व देल जाय छै की वो कोनो व्यपार में करियर के महत्व ने देय छथिन।
 
जे कारण मिथिला में कोनो कोचिंग के चेन नहीं मिलत, DAV और DPS सब मिथला में आबि के खूब कमा रहल य मुदा मिथिला के कोनो स्कूल मिथिला स बाहर नय मिलत।
 
एक बात और जे कियो एक टा स्कूल स सफल भेला ओय के बाद ओ राजनीति में करियर खोजे छैथ।
 
२) माछ, पान , मखान – इ वो छेत्र छी जतय मिथिला में सबसे ऊपर हेबाक चाही, से ने भय रहल य, आंध्र प्रदेश स माछ आबि रहल य, की कारण अछि।
 
इ छेत्र के सब इग्नोर कय रहल छैथ , नव मशीन के उपयोग, एहि में कोनो डीग्री लेनाय जरुरि ने बुझल जाय य, मखान – एकर प्रयोग मात्र कोजगरा तक रही गेल हाँ, जखन की एही में पिजा मसाला डाली के रेडी मेड पैक्ड फ़ूड बनायल जा सके य मुदा सब के त सरकारी नौकरी करे के छै त करते के।
 
३) निजी निवेश – आय कियो भी मिथिला में निवेश करे लय नय चाहे य कारण, सरकार के पोलोसी, क्राइम, स्किल्ड लेबर के कमी।
 
बहुत रास कारण य सब जल्दी में ने लिख सके छी।
 
– सुधीर
 
श्री सुधीर मिश्र वर्तमान समय Financial Planner in an M.N.C होयबाक संग-संग Running an online Coaching Named C4C-Coaching For Careers, संगहि किछु मैथिली गीत सेहो लिखैत छथि। हिनकर लिखल एक गोट रचना निम्न अछि – जे करीब ५-६ साल पहिने लिखने रहथि।
 
नय भैर पोख देखलों, नय किछ बात भेलै।
एक दिन भेटली रस्ता में फेर नै मुलाकात भेलै
 
पहिल साँझ रहै कि ओ इजोरिया राईत रहै
मोन के गाछी मे जेना प्रेम के पुरबा हहाईत रहै
 
लजा कय देखली हमरा दिस दिल पर घात भेलै
एक दिन भेटली रस्ता मे फेर नै मुलाकात भेलै
 
भोरका गुलाब के ओ कुसुम सन एक कली
धरती के ओ नय शायद स्वर्ग के परी छली
 
आँखि उठा के झुका लेली ई कोन बात भेलै
एक दिन भेटली रस्ता में फेर नै मुलाकात भेलै
 
हुनके मिलन के आस ओहि बाट से फेर गुजरै छी
बूझि जेती हमर आहट कहियो मोने मोन चिकरै छी
 
बरसल एहेन बर्षा बिन बादल किया बरसात भेलै
एक दिन भेटली रस्ता मे फेर ने मुलाकात भेलै
 
https://youtu.be/a_Iggo0661c
 
ई हिनकर YouTube चैनल केर लिंक थिक। ई भविष्य मे एकटा एहेन मंच तैयार करय चाहैत छथि मिथिला लेल जे एक शिक्षक आर विद्यार्थीक लेल समर्पित हो, जतय सब कियो नीक शिक्षा निःशुल्क लय सकय। ताहि लेल विभिन्न पेशाकर्मी शिक्षक लोकनि सँ ई उचित अनुरोध करैत छथि जे सब कियो कोनो टौपिक पर वीडियो शेयर करथि जेकरा ई अपन चैनल सँ रिलीज करता आ ओहि सँ जे आमदनी हेतैक से हुनका लोकनि संग शेयर करता। दोसर दिश job oriented education ई छात्र लोकनि केँ उपलब्ध करा सकता, ताहि सब प्रयास मे लागल छथि। आब सफलता जतय धरि भेटनि।
पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 9 =