मिथिला स्टुडेन्ट यूनियन द्वारा ऐतिहासिक क्रान्तिः दिल्ली मे पैदल मार्च, मिथिला विकास बोर्ड लेल

समाचारः साभार लाइव बिहार

मिथिला बोर्ड केर मांग केँ लय केँ दिल्ली पंहुचल MSU कार्यकर्ताक जत्था, होयत जोरदार आंदोलन

LIVE BIHAR : देशक राजधानी दिल्ली मे रवि दिन ५ अगस्त केँ मिथिला विकास बोर्ड केर मांग केँ लय केँ मिथिला स्टूडेंट यूनियन केर प्रस्तावित आंदोलनक लेल बिहार केर मिथिला क्षेत्रसँ सैकड़ोंक संख्या मे यूनियन केर कार्यकर्ताक जत्था शनि दिन दिल्ली पंहुचल। जतय यूनियन केर दिल्ली प्रदेश इकाईक पदाधिकारि द्वारा जत्था केँ फूलमाला सँ जोरदार स्वागत कयल गेल। बता दी जे ५ अगस्त केँ दिल्लीक मंडी हाउस सँ संसद मार्ग धरि हजारोंक संख्या मे पैदल मार्च कय मिथिला विकास बोर्ड केर मांग केँ जोरदार तरीका सँ राखल जायत।


यूनियन द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी कय बतायल गेल अछि जे बिहार राज्य केर उत्तरी भाग मे २० सँ अधिक जिला ऐतिहासिक रूप सँ मिथिला क्षेत्र रहल अछि। एहि क्षेत्र केर सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और राजनीतिक अलग पहिचान रहल छैक। विगत समय मे सत्ता पर काबिज राजनीतिक दल केर दोहरा चरित्रक कारण मिथिला क्षेत्र विकासक दौर मे बहुत पाछू छूटि गेल अछि। एतय पूर्वहि सँ स्थापित कतेको रास उद्योग-धंधा एवं मिल आदिक बन्द भेला सँ आ नव कोनो उपक्रम पर्यन्त स्थापित नहि कयल जेबाक कारण बेरोजगारी-पलायन और गरीबी चरम पर अछि। हर साल ई क्षेत्र बाढ़िक चपेट मे आबि जाइत अछि आर करोड़ों लोकक जिंदगी प्रभावित करैत अछि, मुदा सरकार द्वारा एकर स्थायी निदानक वास्ते कहियो कोनो उल्लेख्य प्रयास नहि कयल गेल, बल्कि उल्टे एकर निदानक नाम पर सरकारी खजाना केँ जमिकय लूटखसोट करैत भ्रष्टाचार आ गलत राजनीति केँ बढावा देल गेल अछि।


आंदोलन केँ विषय मे यूनियन केर राष्ट्रीय प्रवक्ता विद्या भूषण राय बतेलनि जे कोनो सरकारी या गैरसरकारी सर्वे केर डाटाक अनुसार ई क्षेत्र आर्थिक, शैक्षणिक, स्वास्थ्य, सामाजिक, राजनीतिक आदि हर तरीका सँ बिहार केर अन्य क्षेत्र सँ पाछाँ अछि आर देश केर अन्य क्षेत्रक तुलना मे एकर विकास स्तर निम्नतम कहल जा सकैछ। एहि कारण मिथिला क्षेत्र पर विशेष ध्यान देल जेबाक बड पैघ जरूरत छैक। भारतीय संविधान केर आर्टिकल ३७१-A से ३७१-H मे विकास केर आधार पर एहेन पिछड़ल-उपेक्षित क्षेत्रक लेल विशेष व्यवस्था केर बात कयल गेल अछि। अतः यूनियन द्वारा भारत सरकार सँ मिथिला लेल विशेष आर्थिक पैकेज केर घोषणा सहित मिथिला विकास बोर्ड केर मांग लेल ई आन्दोलन कयल जेबाक बात ओ बतौलनि।

संविधानक उपरोक्त धारा अनुसार वैकासिक पिछड़ापण केँ दूर करबाक लेल सेपरेट डेवलपमेंट बोर्ड केर गठन कयल जेबाक प्रावधान छैक। मिथिला एहने एक सेपरेट डेवलपमेंट बोर्ड केर स्वतः अधिकारी अछि लेकिन हमेशा सँ मिथिलाक राजनितिक-आर्थिक-सामाजिक रूप सँ उपेक्षित राखल गेल अछि, आर यैह विन्दु पर ५ अगस्त केँ जोरदार आन्दोलन केर तैयारी कयल गेल अछि।

पूर्वक लेख
बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 7 =