साहित्य अकादमीक नव संयोजक डा. प्रेम मोहन मिश्र केर नामक घोषणा

Pin It

फरबरी १३, २०१८. मैथिली जिन्दाबाद!!

साहित्य अकादमी सम्मान सौंपल गेल, नव संयोजक बनलाह डा. प्रेम मोहन मिश्र

समाचारः साभार लाइव बिहार

डॉ प्रेम मोहन मिश्र केँ साहित्य अकादेमी मे मैथिलीक संयोजक बनायल गेलनि अछि। आइ दिल्ली मे संपन्न बैसारक बाद डॉ मिश्र केर चयन कयल गेलनि। एहि बातक घोषणा होइते साहित्यकर्मी लोकनि द्वारा डॉ प्रेम मोहन मिश्र केँ बधाई ज्ञापन कयल जा रहल अछि।

कहैत चली जे डॉ प्रेम मोहन मिश्र दरभंगाक एमएलएसएम कॉलेज मे रासायनशास्त्रक प्रोफेसर छथि। हुनका भारत भाग्य विधाता नामक किताब पर साहित्य अकादेमी सँ बाल पुरस्कार भेट चुकल छन्हि। वर्तमान मैथिली संयोजक डॉ वीणा ठाकुर केर कार्यकाल एहि वर्ष समाप्त भऽ रहल छन्हि।

डॉ प्रेम मोहन मिश्र केर चयन पर डॉ भीमनाथ झा, अमलेंदु शेखर पाठक, कमल मोहन चुन्नू, श्याम दरिहरे, अजीत आजाद सहित अन्य साहित्याकार लोकनि हुनका बधाई देलनि अछि।

मधुबनी जिलाक झंझारपुर केर लक्ष्मीपुर गामनिवासी श्री मिश्र बाल्यवर्ग केँ वैज्ञानिक लोकनिक जीवनी सँ अवगत करेबाक लेल भारत भाग्य विधाता नामक पुस्तक लिखलनि अछि। एहि मे कुल 26 वैज्ञानिक केर जीवनी अछि। आर्यभट्ट सँ लैत नव वैज्ञानिक सभक बारे मे जानकारी देल गेल अछि। एखन धरि ओ 29 सँ बेसी पुस्तक लिखि चुकल छथि। जाहि मे मैथिलीक अलावा हिंदी व अंगेरजी मे सेहो पुस्तक छन्हि। मैथिली में ओ रसायनशास्त्र केर पुस्तक सेहो लिखने छथि।

अन्य स्रोत सँः

विगत दिसम्बर २०१७ केर बैसार मे डा. प्रेम मोहन मिश्र केर नामक सिफारिश मैथिली-मिथिला संस्थाक तरफ सँ तथा कोल्हान विश्वविद्यालय झारखंड दिस सँ डा. अशोक अविचल केर नाम जेनरल काउंसिल मे समावेश हेतु सिफारिश भेल छल। तहिये सँ ई तय छल जे एहि दुइ व्यक्तित्व मे सँ एक गोटा संयोजक केर महत्वपूर्ण पद पर आगामी ५ वर्ष लेल अपन योगदान देता। साहित्य अकादमी सँ मान्यता प्राप्त हरेक भाषाक एक परामर्शदात्री समिति होएत छैक जे संयोजकक अगुवाई मे भाषा-साहित्यक उत्थान, संरक्षण आदिक लेल विभिन्न कार्यक्रमक आयोजन सालो भरि करय पड़ैछ।

 

बादक लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 7 =