Home » Archives by category » Editorial

A Few Words From Editor “An Appeal”

A Few Words From Editor “An Appeal”

Hello All!   Re: My Oath for A Great Grand Event “Antarrashtriya Maithili Sammelan 2019”   A very good morning to all of you from my work place and permanent residence ‘Biratnagar’. I have been irregular recently as I was engaged in my several vacation tours and that of family ritualistic events. Also, my FB […]

दिल्ली मे दोसर बेर मैथिली लिटरेचर फेस्टीवल काल्हि सँ आरम्भ भेल

दिल्ली मे दोसर बेर मैथिली लिटरेचर फेस्टीवल काल्हि सँ आरम्भ भेल

दिल्ली मे दोसर बेर मैथिली लिटरेचर फेस्टिवल   जानकीजीक कृपा सँ चारूकात परमानन्द बरैस रहल अछि   मुद्दई लाख बुरा चाहे तो क्या होता है, होता वही है जो मंजूरे खुदा होता है – एहि कहाबत केँ पूर्णता पबैत देखि सकैत छी   मैथिली लिटरेचर फेस्टिवल केर भव्य शुरुआत भेल अछि। स्वयं जानकीजीक कमान्ड मे […]

मैथिली मात्र नहि बल्कि आनहु भाषा मे विज्ञता आ जनजुड़ाव नगण्ये होइत छैक

मैथिली मात्र नहि बल्कि आनहु भाषा मे विज्ञता आ जनजुड़ाव नगण्ये होइत छैक

मैथिलीक हरेक मंच, हरेक पुरस्कार, हरेक पत्रिका, हरेक अभियान आ हरेक गतिविधि मे सबके चेहरा देखायत तखने सबकेँ अनुभूति हेतैक। – आदरणीय डा. सुरेन्द्र लाभ आइ सामाजिक संजाल मे जानल-मानल सामाजिक-सांस्कृतिक अभियन्ता राजकुमार महतो नेपालीय मिथिलाक्षेत्रक जानल-मानल विद्वान् डा. सरेन्द्र लाभ केर उपरोक्त उक्ति शेयर कयलनि अछि। जनकपुर मे लगातार एहि विषय पर मंथन चलि […]

दीपावली, अरिपन आ रंगोलीः परिप्रेक्ष्य मिथिलावासीक वर्तमान अवस्था

दीपावली, अरिपन आ रंगोलीः परिप्रेक्ष्य मिथिलावासीक वर्तमान अवस्था

अरिपन आ रंगोली दुइ अलग चीज थिकैक अरिपन केर महत्व मिथिला में प्रशस्त छैक। अरिपन केर शोभा माटि पर पाड़य में छैक। मिथिला केर पवन माटि जाहि सँ जानकी स्वयं प्रकट भेलीह ओकर पुण्य आ प्रताप स्वतः कतेक महत्वपूर्ण भेल से सोचय योग्य विषय भेल। ताहि माटि पर गायक गोबर सँ निपलाक बाद चिकन माटि […]

नेपाल मे आंगुर पर गानय योग्य भत्ताभोगी व्यक्ति मैथिलीक विरोध मे कुतर्क कियैक करैत अछि

नेपाल मे आंगुर पर गानय योग्य भत्ताभोगी व्यक्ति मैथिलीक विरोध मे कुतर्क कियैक करैत अछि

नेपाल मे मैथिलीक विरोध लेल एकटा खास भत्ताभोगी वर्ग सक्रिय केकरो नाम लेनाय त उचित नहि अछि परञ्च ई बात लिखब आवश्यक अछि जे आंगुर पर गानल किछु लोक भिन्न-भिन्न नाम सँ आईडी बनाकय मैथिली भाषाक सम्बन्ध मे गलत अफवाह आ कुतथ्य केर प्रसार कय अपना केँ पोल्हा रहल अछि। ओ ई बुझैत छैक जे […]

दहेज मुक्त मिथिला फेसबुक समूह पर मिथिलानी लोकनिक उच्च मूल्यक सारगर्भित विमर्श

दहेज मुक्त मिथिला फेसबुक समूह पर मिथिलानी लोकनिक उच्च मूल्यक सारगर्भित विमर्श

आइ अपने सभक सोझाँ एकटा नव जनतब राखय चाहब। दहेज मुक्त मिथिला फेसबुक पर पहिने खुलल समूह रहैक जे संयोग सँ एखन बन्द समूह छैक, सिर्फ सदस्य टा एहि समूह पर भऽ रहल गतिविधि सब देखि-पढि सकैत अछि। आइ-काल्हि एतय एडमिन वंदना चौधरी सहित कतेको मूल्यवान् सदस्य सब बहुत उच्च मूल्यक चर्चा करैत छथि आर […]

महामाया जगदम्बाक प्रथम चरित्र – केना मनन करब अपना सब

महामाया जगदम्बाक प्रथम चरित्र – केना मनन करब अपना सब

आध्यात्मिक चिन्तन – प्रवीण नारायण चौधरी माँ दुर्गाक प्रथम चरित्र   एक राजा अपन राज्य सँ बेदखल कयल गेल अछि। एकटा वैश्य अपन व्यापार, परिवार, पत्नी, पुत्र, अरजल सम्पत्ति, स्वजन, परिजन सभक द्वारा त्यागल गेल अछि। दुनू परेशान भऽ भागिकय जंगल पहुँचि गेल। ओतय एक मेधा नामक ऋषिक आश्रम पहुँचि हुनकहि आश्रय मे रहि रहल […]

नवरात्र पर नव उपहार

नवरात्र पर नव उपहार

  दुर्गा पूजा (नवरात्र) उपहार   आइ सँ शुरू भेलनि भगवतीक विशेष पूजा-अर्चना। हमर गाम, अहाँक गाम आ सभक गाम मे महादुर्गा भगवतीक स्मरण-पूजन मे लोक सब लागि गेल अछि।   बुझले होयत जे असुर (राक्षस) सभक अत्याचार पराकाष्ठा नांघि गेलाक कारण जनता त्राहि-त्राहि कय रहल छल। ऋषि-मुनि, ज्ञानी, विद्वान्, संत, समाजसेवी, बड़-बुजुर्ग सब चिन्तित […]

दिल्ली विश्वविद्यालय मे मैथिलीक पढौनी – मैथिली आन्दोलनक प्रखरता सँ सफलताक दिशा मे यात्रा

दिल्ली विश्वविद्यालय मे मैथिलीक पढौनी – मैथिली आन्दोलनक प्रखरता सँ सफलताक दिशा मे यात्रा

#दिविविमे_मैथिलीक_पढौनी   हैश टैग दिल्ली विश्वविद्यालय मे मैथिलीक पढौनी – हैश टैग आन्दोलनक नव वर्सन मे मैथिली लेल आवाज बुलन्द कयलनि अछि मैथिली-मिथिलाक लेल समर्पित अभियानी संजीव मिथिलाकिङ्कर अर्थात् संजीव सिन्हा जी। पिछला प्रयास मे १८ सितम्बर ओ दिल्ली विश्वविद्यालय मे भाषाक पढौनी लेल विद्यमान व्यवस्थाक फोटो-शौट संग अपन अपन प्रथम आह्वान निम्न रूप मे […]

मिथिला सँ जे कटि गेल से मरि गेल बुझू

मिथिला सँ जे कटि गेल से मरि गेल बुझू

२५ सितम्बर २०१९. मैथिली जिन्दाबाद!! बहुतो बेर एकटा सवाल मोन मे अबैत अछि जे हमरे घरक लोक केँ बाहरी लोक अपन समाज मे जोड़ि ओकरा माथ पर बाहरी साज-सज्जा-सम्मानक कइएक आवरण चढाकय हमर भाइ हमरा सँ छीनि लैत अछि।   भाइ केँ बुझाउ जे बाहरक सम्मान, बाहरक मान, आ कि मान्यता सँ पहिने अपन निजताक […]

Page 1 of 33123Next ›Last »