Home » Archives by category » Article » Opinion (Page 3)

कोरोना संक्रमण आ वैश्विक संकटः नागरिक पत्रकारिता एकमात्र विकल्प

कोरोना संक्रमण आ वैश्विक संकटः नागरिक पत्रकारिता एकमात्र विकल्प

आलेख – धर्मेन्द्र झा (नेपाली सँ मैथिली अनुवाद – ध्रुव कुमार झा, जनकपुर) अखन सम्पुर्ण मानव सभ्यता वैश्विक महामारी कोरोनाके ल’क’ आक्रान्त बनल छइ । मनुख्खके हरेक युग आ समयमे सूचना आवश्यक अछि तकर इतिहास साक्षी छैक । सुचना मनुख्खके सब आवश्यक्ता पूरा करैत छइ आ सब समस्याके समाधान करैत छैक से बिश्वाश कएल जाइत […]

कि कहैत अछि अपन मिथिलाक परम्परा – महामारी सँ बचबाक सहज उपाय

कि कहैत अछि अपन मिथिलाक परम्परा – महामारी सँ बचबाक सहज उपाय

आस्था-विश्वास आ स्वाध्यायक प्रसाद – प्रवीण नारायण चौधरी जनकल्याणार्थ एक अपील   कोरोना वायरस केर संक्रमण सँ विभिन्न देश ठप्प पड़ि गेल अछि। राज्य संचालक (सरकार) द्वारा जारी कयल गेल निर्देशन आ बचबाक उपाय केँ देखैत-बुझैत सब कियो जरूर सतर्कता अपनाबी।   हमर व्यक्तिगत विचार आ आह्वान   चूँकि हम एक आस्थावान हिन्दू छी, वैदिक […]

कतय जा रहल अछि मिथिला समाज – फिजूलखर्ची आ आडम्बरी व्यवहार पर विमर्श

कतय जा रहल अछि मिथिला समाज – फिजूलखर्ची आ आडम्बरी व्यवहार पर विमर्श

विचार – शुभचन्द्र झा, राजविराज कतय जा रहल अछि समाज? धिक्कार अछि ओहि समाजके जे एखनहुँ बेटीके रानी पुताेहुके नाैकरानी बुझैत अछि। बडका बडका ठाेप, पाग पहिर अपनाके बडका कहाबैके साेच रखैत छथि। कथीके बडका ? माेनक बडका कि कर्मक बडका छी? काेनाे बेटीबला नञ चाहैत छै बेटी दु:खी रहए, अपन साकरता अनुसार बेटीके बिआहमे […]

बिना समुचित पढाई-लिखाई कएने कोनो भाषाक ज्ञान भेटब सहज नहि

बिना समुचित पढाई-लिखाई कएने कोनो भाषाक ज्ञान भेटब सहज नहि

विचार – प्रवीण नारायण चौधरी पठन-पाठन बिना भाषाक बोध सहज नहि मैथिली सेहो विद्वानक भाषा थिक, ई आरोप लागल करैत अछि। एकर कारण स्पष्ट अछि – जहिना संस्कृत उच्च महत्वक भाषा रहितो समुचित पठन-पाठनक अभाव मे जन-जन मे प्रिय नहि बनि सकल, ठीक तहिना मैथिली भाषाक पढाई-लिखाई प्राथमिक विद्यालय सँ आरम्भ नहि करायल जेबाक कारण […]

कतय छी हम – चिन्तन आलेख

कतय छी हम – चिन्तन आलेख

मिथिला सभ्यताक वर्तमान पर चिन्तन – प्रवीण नारायण चौधरी कतय छी हम   इतिहास हमरा सभक समृद्धि सँ भरल अछि, तेँ बेर-बेर इतिहासे बेसी मोन पाड़ैत रहैत छी। वर्तमान समय मे हमरा लोकनि बहुत बेसी समस्या आ द्वंद्व सँ जकड़ल रहबाक कारण जे आत्मप्रसन्नता सच मे भेटबाक चाही से नहि भेटि पबैत अछि। जातिवादी विभाजन […]

कोरोना वायरस सँ बचबाक लेल एकटा ठोस उपाय – घरेलू कामकाजी मिथिलानीक सुझाव

कोरोना वायरस सँ बचबाक लेल एकटा ठोस उपाय – घरेलू कामकाजी मिथिलानीक सुझाव

सम-सामयिक विचार – वन्दना चौधरी, विराटनगर कोरोना वायरस आय कैल्ह हर जगह चाहे ओ मोबाईल, टीवी, अखबार, या जनसामान्य हो केवल और केवल कोरोना वायरस के बारे में बात भ रहल अइछ। एकर डर आदमी में एना प्रवेश क रहल छै, जेना लगैत छै जे बस आब ओहो अहि स संक्रमित भ जायत किछुए काल […]

दिल्ली मे दंगा – पूर्ण मीमांसा भाग २

दिल्ली मे दंगा – पूर्ण मीमांसा भाग २

विचार – प्रवीण नारायण चौधरी शाहीनबाग मोडेल केर राजनीति भारत केर संसदीय पद्धति द्वारा पास कयल गेल ‘सीएए कानून’ केर विरोध मे विपक्ष केर हार भेला उपरान्त जानि-बुझिकय कानून केर सम्बन्ध मे अनेकों कपोलकल्पित कयास (अन्दाजी आकलन-व्यकलन) आधारित जोखिम सँ वर्ग विशेष केँ भ्रमित कयल गेल। परिणामस्वरूप एहि नव कानून केर विरोध मे जहाँ-तहाँ हिन्सक-उग्र […]

दिल्ली मे दंगा – पूर्ण मीमांसा भाग १

दिल्ली मे दंगा – पूर्ण मीमांसा भाग १

दिल्ली मे दंगाक जड़ि की?   स्पष्टे अछि जे महीनों सँ भारत मे पास कयल गेल एक नया कानून “नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए)” केर विरोध मे एकटा धर्म विशेष केर समुदाय सहित आरो किछु निश्चित दायराक लोक-समुदाय द्वारा विरोध कयल जा रहल अछि। समूचा भारत मे एहि कानून केर विरोध या समर्थन मे कानून केर […]

नेपालक प्रदेश २ केर नाम आ राजकाजक भाषा तय करबाक झंझटिया सवाल पर धर्मेन्द्र झाक लेख

नेपालक प्रदेश २ केर नाम आ राजकाजक भाषा तय करबाक झंझटिया सवाल पर धर्मेन्द्र झाक लेख

लेख – धर्मेन्द्र झा (मूल लेख नेपाली मे नयाँ पत्रिका मे प्रकाशित – मैथिली अनुवाद प्रवीण नारायण चौधरी) प्रदेश २ मे नाम आर भाषाक बेहाली प्रदेश २ मे नेपाली बाद सरकारी कामकाजक पहिल भाषाक रूपमे मैथिलीकेँ मान्यता प्रदान करबाक चाही।   प्रदेश दुइमे खूबे चर्चामे रहल राजधानी आर प्रदेशक नामकरणमध्य आ राजधानीक चर्चाकेँ हाललेल विराम […]

१८म अन्तर्राष्ट्रीय मैथिली सम्मेलन भारतक वृन्दावन मे प्रस्तावित, विराटनगरक मापदंड पालन हो

१८म अन्तर्राष्ट्रीय मैथिली सम्मेलन भारतक वृन्दावन मे प्रस्तावित, विराटनगरक मापदंड पालन हो

१८म अन्तर्राष्ट्रीय मैथिली सम्मेलन होयत भारतक वृन्दावन मे   परम्परानुसार प्रत्येक अन्तर्राष्ट्रीय मैथिली सम्मेलनक अन्त (समापन गोष्ठी) मे आगामी आयोजनक कार्यसमिति ओ कार्यक्रम स्थलक नामक घोषणा कयल जाइत अछि। १७म अन्तर्राष्ट्रीय मैथिली सम्मेलनक समापन गोष्ठी मे महासचिव डा. बैद्यनाथ चौधरी बैजू कार्यसमितिक घोषणाक संग-संग आगामी आयोजन भारतक वृन्दावन मे कयल जेबाक घोषणा कयलनि। पिछला तीन […]