Home » Archives by category » Article » Heritage (Page 10)

सहरसा आयुक्त द्वारा पौराणिक सांस्कृतिक पहिचान केँ सम्मान

सहरसा आयुक्त द्वारा पौराणिक सांस्कृतिक पहिचान केँ सम्मान

अमित आनन्द, सहरसा। जुलाई २९, २०१५. मैथिली जिन्दाबाद!! कहबी गलत नहि छैक, हाकिमो मे हाकिम जे बौद्धिक स्तर सँ हाकिम! देश स्वतंत्र भेना कतेको दशक बितल, बित गेल कतेको वर्ष सहरसा जिला बनब आ कोसी प्रमण्डल केर मुख्यालय रूप मे स्थापित होयब। कतेको रास हाकिम एतय एला आ अपना-अपना स्तर सँ एहि पौराणिक नगरी केँ अपना […]

ई १६ चक्रवर्ती राजा छथि भारतवर्षक निर्माता: भाग ५ (अन्तिम)

ई १६ चक्रवर्ती राजा छथि भारतवर्षक निर्माता: भाग ५ (अन्तिम)

एहि सँ पूर्व ‘ई १६ चक्रवर्ती राजा छथि भारतवर्षक निर्माता’ केर चारि टा भाग प्रकाशित कैल जा चुकल अछि। सनातन भारतवर्षक परिचित पौराणिक इतिहास अनुसार हिनका लोकनिक योगदान केँ सदैव स्मरण राखल जाइत अछि। यैह कारण सँ ई महत्त्वपूर्ण इतिहास केर वृत्तान्त मैथिली जिन्दाबाद पर प्रकाशित कैल जा रहल अछि। एहि सँ पूर्वक लेखादि पढबाक […]

जानकी मन्दिर जनकपुर: एक परिचय

जानकी मन्दिर जनकपुर: एक परिचय

आलेख – अशोक कुमार सहनी जानकी मन्दिर पवित्र हिन्दू धर्मस्थल छी । जानकी अर्थात् सीताक ई मन्दिर ओकर जन्मस्थल जनकपुरमे अवस्थित अछि । ई मन्दिर कें मुगल शैली में बनाएल गेल अछि । नेपालक ख्यातीप्राप्त एहि मन्दिरके कलाक उत्कृष्ट नमुना मानल गेल अछि । प्राचिन मिथिलाक राजधानी जनकपुरमें अवस्थित जानकी मन्दिर विश्वभरिक हिन्दुक आस्थाक केन्द्र छी […]

चलू विद्यापति केर धाम – यौ मिता! जानकी केर मिथिला गाम!!

चलू विद्यापति केर धाम – यौ मिता! जानकी केर मिथिला गाम!!

मिथिलाक्षेत्र मे डेग-डेग पर सुरम्य-सौम्य देवी-देवताक रमणीय वासस्थल बनायल गेल अछि। तथापि किछु स्थल एहने होइत अछि जेकर सुन्दरता आ आकर्षण आस्थावान – भक्तमान लोक मे एकटा अजबे-अलगे अन्तर्शक्ति प्रदान करैत अछि। यैह कारण छैक जे स्थानीय लोकक अतिरिक्त ओहि स्थल पर बाहरो-बाहर सँ अनेको मनोकामना सहित लोक घूमय लेल, दर्शन करय लेल आ कबुला […]

मंडन मिश्र केर काशी कृति – धरोहर आइयो मौजूद, संरक्षण-संवर्धनक आवश्यकता

मंडन मिश्र केर काशी कृति – धरोहर आइयो मौजूद, संरक्षण-संवर्धनक आवश्यकता

बनारस यात्रा सँ घुरिकय मैथिली जिन्दाबादक समाचार संपादक किसलय कृष्ण यात्रा संस्मरण मे ‘मंडन मिश्र’ कतेको विद्वानक शोधपूर्ण व्याख्यासँ ई सम्पूर्ण सिद्ध भऽ चुकल अछि जे प्रख्यात विद्वान आ दार्शनिक मण्डन मिश्र मिथिलाक सहरसा जिलाक महिषी (प्राचीन माहिष्मति)क निवासी छलाह । शांकरमठक अनुयायी दक्षिण भारतीय लेखक माधवाचार्यक शंकरद्विगविजयमे वर्णित सभटा भ्रमक निवारण अंधराठाढ़ीक प्रकाण्ड शास्त्रज्ञाता […]

कुर्सों दुर्गास्थान: मिथिला क्षेत्र मे पर्यटन विकासक आदर्श सूत्र

कुर्सों दुर्गास्थान: मिथिला क्षेत्र मे पर्यटन विकासक आदर्श सूत्र

आलेख – प्रवीण नारायण चौधरी मिथिलाक्षेत्र मे प्रबुद्ध समाज द्वारा गाम-गाम धरोहर केर निर्माण संभव भेल अछि। सब गाम मे अपना तरहक एकटा कीर्ति पुरखा लोकनि द्वारा प्रेरणास्पद ढंग सँ बनल रहबाक भिन्न-भिन्न गाथा सब सुनल जा सकैत अछि। हिन्दू धर्मशास्त्र मे दानक महत्त्व बहुत पैघ छैक, तहिना जनकल्याणकारी निर्माण कार्य मे सेहो समाज काफी […]

आशा केर कोर्ही – निराशा केर फूल

आशा केर कोर्ही – निराशा केर फूल

सुभाषचंद्र झा, सहरसा। जुन १४, २०१५. मैथिली जिन्दाबाद!! सहरसाक संजय गाँधी जैविक उद्यान केर किछु दृश्य प्रस्तुत अछि । एहि कोसी क्षेत्र मे जैविक उद्यानक परिकल्पना पर भेल राज्य द्वारा कार्य स्वयं अपन दुर्दशा आ अधूरा कार्य प्रगतिक अनेको खिस्सा सुना रहल अछि। एतय फव्वारा निर्माणकालहि सँ आइ धरि खराब पड़ल अछि। जगह-जगह अनेरुआ घास केर […]

सौराठ सभागाछी: संस्मरण यात्रा

सौराठ सभागाछी: संस्मरण यात्रा

१. माधवेश्वरनाथ महादेव मन्दिर – सभागाछीक शान आ पुरातन कलाकृतिक विशिष्ट नमूना सौराठ सभागाछी स्थित ई विलक्षण मन्दिर नहियो किछु तऽ ५०० वर्ष प्राचिन होयत। मिथिलाक एक राजा ‘माधवेश्वर सिंह’ केर नाम पर राखल गेल एहि मन्दिरक नाम ‘माधवेश्वरनाथ महादेव’ अछि। दहेज मुक्त मिथिला व ऐतिहासिक सौराठ सभा विकास समिति केर संयुक्त तत्त्वावधान मे ८ […]

मिथिलाक सुप्रसिद्ध पर्यटन स्थल: गिरिजास्थान, फूलहर, मधुबनी

मिथिलाक सुप्रसिद्ध पर्यटन स्थल: गिरिजास्थान, फूलहर, मधुबनी

जनकपुर सँ सटले मधुबनी जिलाक अत्यन्त प्रसिद्ध पर्यटन स्थल – गिरिजास्थान, एतय जानकी जी नित्य फूल लोढय आ गौरी पूजा हेतु संगी-सहेलीक संग अबैत छलीह। कहल जाइछ जे एतहि जानकी केँ शश्य-श्यामल-पुरुषोत्तम राम संग पहिल बेर नजरि मिलल छलनि। शास्त्र-पुराण आ कतेको कथा आदि द्वारा एहि दृश्यक सुन्दर वर्णन कैल गेल अछि। एहि स्थान पर […]

ताजमहल आ अन्य भारतीय विश्व धरोहर

ताजमहल आ अन्य भारतीय विश्व धरोहर

विश्व विरासत स्थल अथवा विश्व धरोहर एहेन ख़ास स्थान, वन क्षेत्र, पर्वत, झील, मरुस्थल, स्मारक, भवन या शहर इत्यादि केँ कहल जाइत छैक, जे ‘विश्व विरासत स्थल समिति’ द्वारा चयनित कैल गेल हो और यैह समिति एहि स्थल केर देखरेख यूनेस्को केर तत्वाधान मे करैत छैक। विश्व केर सांस्कृतिक-ऐतिहासिक स्थल केँ विरासत केर रूप मे संरक्षित रखबाक […]