Home » Archives by category » Article » Heritage

पर्यटन लेल अद्भुत स्थल अछि देवही टोलः एक सँ एक निर्माणक अनुपम छवि-छटा बनल अछि

पर्यटन लेल अद्भुत स्थल अछि देवही टोलः एक सँ एक निर्माणक अनुपम छवि-छटा बनल अछि

पर्यटन स्थलक परिचय – विवेक चन्द्र मिश्र, देवही टोल, मधुबनी (साभार लेखकक फेसबुक पर राखल गेल पोस्ट, जहिनाक तहिना) ई थीक हमर गाम के बाबा देवेश्वर नाथ महादेव के स्थान। ई स्थान झंझारपुर सँ लगभग ७ किलोमीटर पूर्व में अवस्थित अछि। लखनौर और दीप के मध्य में दीप पश्चिम पंचायतान्तर्गत हमर गामक नाम #देवही_टोल अछि। […]

धनरोपनी सँ जुड़ल मिथिलाक साहित्य-संस्कारः गभ लेनाइ आ धनखेती लेल डाक-वचन

धनरोपनी सँ जुड़ल मिथिलाक साहित्य-संस्कारः गभ लेनाइ आ धनखेती लेल डाक-वचन

आलेख – प्रवीण नारायण चौधरी धनरोपनी सँ जुड़ल मिथिलाक साहित्य-संस्कार   के नहि जनैत छी जे बिना अन्न-पानि मानव जीवन किंवा सम्पूर्ण पर्यावरणीय संतुलन, हर जीव-जन्तु आ जीवन पद्धति स्वयं असंभव अछि। हम-अहाँ जे मिथिलाक लोक थिकहुँ एतय सेहो खेती-पाती आ घर-गृहस्थी संग जीवनचर्याक अपन एक अलग विशिष्ट परम्परा सुस्थापित अछि। हालांकि ई परम्परा आजुक […]

आजुक युग मे मिथिला केँ विश्व परिवेश मे ‘मिथिला चित्रकला’ सँ चिन्हल जाइत अछिः एक आस्ट्रेलियन शोध

आजुक युग मे मिथिला केँ विश्व परिवेश मे ‘मिथिला चित्रकला’ सँ चिन्हल जाइत अछिः एक आस्ट्रेलियन शोध

अन्तर्राष्ट्रीय परिधि मे मैथिली मिथिला   सन्दर्भ मिथिला पेन्टिंग पर आस्ट्रेलिया   आजुक विश्व मे मिथिला केँ पहिचान दियाबय लेल ‘मिथिला पेन्टिंग’ अकेले दम पर सर्वोच्च स्थान हासिल कएने अछि। ओना त विद्वानक नजरि मे भारतीय हिन्दू दर्शनक कुल ६ विभाग (षट्दर्शन) मे सँ मीमांसा लेल महिर्ष जैमिनी, सांख्य लेल महर्षि कपिल, वैशेषिक लेल महर्षि […]

जानकी जन्म आ जनकपुर मन्दिर केर माहात्म्य

जानकी जन्म आ जनकपुर मन्दिर केर माहात्म्य

आध्यात्म – ऋषिकेश झा, जनकपुरधाम पौराणिक काल मे मिथि नामक राजा मिथिला क्षेत्रक राजा छलखिन्ह । राजा मिथि केर नाम सँ एहि क्षेत्रक नाम मिथिला नगरी कहाय लागल । मिथिला नगर में मिथि राजा पश्चात् जनक राजा भेलाह । एहि मिथिला क्षेत्र में एक बेर बहुत समय बरखा नहि होबक कारण खेती-गृहस्थी में उत्पादन बन्न […]

पशुपतिनाथ मन्दिर – किछु महत्वपूर्ण गाथा

पशुपतिनाथ मन्दिर – किछु महत्वपूर्ण गाथा

धार्मिक पर्यटन स्थल हिन्दू धर्मावलम्बीक एक अत्यंत महत्वपूर्ण तीर्थस्थल होयबाक संग-संग विश्व धरोहर सँ विभूषित नेपालक राजधानी काठमान्डू स्थित पशुपतिनाथ मन्दिर सँ जुड़ल किछु मूल्यवान जानकारी संकलन कय एतय प्रकाशित कय रहल छी। साभारः https://travelmassif.com/pashupatinath-temple-nepal/ SACRED YATRA नेपालक पशुपतिनाथ मन्दिर आ ओहि ठामक तस्वीर BY TRAVEL MASSIF पशुपतिनाथ मन्दिर हिन्दू धर्मावलम्बीक मान्यता मे एक प्रमुख धार्मिक केन्द्र थिक […]

जनकपुरक बारे सामान्य ऐतिहासिक अवलोकन (आलेख: रोशन जनकपुरी)

जनकपुरक बारे सामान्य ऐतिहासिक अवलोकन (आलेख: रोशन जनकपुरी)

आलेख – जनकपुरक बारे सामान्य ऐतिहासिक अवलोकन – रोशन जनकपुरी (मूल नेपाली सँ मैथिली मे अनुवाद: प्रवीण नारायण चौधरी) जनकपुरधाम प्रथम दृष्टिमे एकटा मिथकीय तीर्थस्थलक रूपमे प्रसिद्ध अछि । रामायणक नायिका आर हिन्दुभक्तक निमित्त जगज्जननीक रूपमे आराध्य सीता मिथिलाक राजकुमारी आर राजा शीरध्वजक बेटी छलीह । मिथिलाक अन्तिम शासक कराल छलाह । कराल जनकक पतन सम्भवतः […]

दरभंगा नामकरणक अनुपम रहस्य

दरभंगा नामकरणक अनुपम रहस्य

अनुवादित लेख संकलन एवं अनुवाद – प्रवीण नारायण चौधरी साभारः अपन घरदौर – न्यूज़ मिथिला दरभंगा संस्कृत केर दारू-भंग (लकडी केँ काटिकय बनल शहर) सँ उदभूत भेल शब्द थिक। फारसी मे एकरा लेल दर-ए-बंग लिखल जाइत अछि। लेकिन बंगाल केर साहित्यिक, सामाजिक, ज्योतिषीय रचना में दरभंगा केँ आइयो धरि द्वार-बंग टा सँ संबोधित कयल जाइत अछि। […]

झंझारपुर और आसपास – हिन्दी दिवस पर खास

झंझारपुर और आसपास – हिन्दी दिवस पर खास

लेख – संकलनः झंझारपुर  मिथिला में झंझारपुर अनुमंडल के प्रक्षेत्र में यत्र-तत्र इतिहास अपने समुन्नत अतीत की गाथा जीर्ण-शीर्ण पड़े टीलों, खंडहरों, मूर्तियों एवं शिलालेखों के माध्यम से सुनाता प्रतीत होता है तो इसका कण-कण दर्शन की गुत्थियों को सुलझाने में अहर्निश रत मालूम पड़ता है। 9वीं सदी में झंझारपुर अनुमंडल के अन्धराठाढ़ी प्रखंड को […]

गोरखा रेजिमेन्ट केर १२ अद्भुत रहस्य – एक ‘मस्ट रीड अंग्रेजी लेख’

गोरखा रेजिमेन्ट केर १२ अद्भुत रहस्य – एक ‘मस्ट रीड अंग्रेजी लेख’

नेपालक वीर गोर्खाली गोरखा मूल केर वीर सेना आइ नेपालक अलावे भारत तथा बेलायत केर सेना मे सांगठनिक स्तर पर अपन स्थान सुरक्षित कयने अछि। गोरखा मूल केर ई वीर सपुत सभ विशेष रूप सँ नेपाल आ भारतक मूलवासी होएत छथि। हिनका लोकनिक वीरताक गाथा एहि सँ बुझल जा सकैत छैक जे अपन फर्ज प्रति […]

बाबा महाकालेश्वर केर आविर्भावक अत्यन्त मार्मिक पौराणिक गाथा

बाबा महाकालेश्वर केर आविर्भावक अत्यन्त मार्मिक पौराणिक गाथा

द्वादश ज्योतिर्लिंगः महाकालेश्वर बाबा सँ जुड़ल महत्वपूर्ण गाथा   किछुए दिन पूर्व सँ आरम्भ कयल द्वादश ज्योतिर्लिंग कथा-गाथा विवरण अन्तर्गत शिवपुराण मे वर्णित तेसर ज्योतिर्लिंग ‘श्री श्री १०८ श्री बाबा महाकालेश्वर’ केर आविर्भावक कथा मे पढने रही जे कोना एकटा बस्ती पर राक्षसक आक्रमण आ क्रूर अत्याचार विरुद्ध अपन भक्त-साधक तथा आस्थावान् केँ बचेबाक लेल […]

Page 1 of 11123Next ›Last »