Home » Archives by category » Article » Culture

राजनीति आ जातिवादः प्राकृतिक न्याय केर विरुद्धक काज बन्द हो

राजनीति आ जातिवादः प्राकृतिक न्याय केर विरुद्धक काज बन्द हो

विचार – प्रवीण नारायण चौधरी वर्तमान युग मे विभिन्न राजनीतिक सोच आ मानुषिक विचार मे पर्यन्त पैघ-छोट हेबाक किंवा देखाबा करबाक भावना बसि गेलाक कारण उद्वेलित होएत रहबाक कारणे वर्ण व्यवस्थाक मौलिक परिकल्पना मे नोच-पटक भेल अछि आर स्थिति एहि विन्दु तक पहुँचि चुकल अछि जे जातीय प्रथाक अन्त कयला सँ समाजक बेसी हित होयत […]

अन्तरंग प्रेम प्रदर्शनक वस्तु नहि बंधुगण! वैलेन्टाइन डे पर एना उचित नहि…….

अन्तरंग प्रेम प्रदर्शनक वस्तु नहि बंधुगण! वैलेन्टाइन डे पर एना उचित नहि…….

वेलेन्टाइन डे स्पेशल वैधानिक चेतावनी   प्रेम दिवस – प्रेम विशेष चर्चा, उपहार आदान-प्रदान… रोज डे, चकलेट डे आ कि-कहाँदैन डे-फे… सुनैत-सुनैत मोन आजिज भेनाय जे कहैत छैक से भेल अछि बुझू। ताहि पर सँ भाभौ आ पुतोहु वा अन्य समकक्षी स्नेहिल बेटी-भतीजी वा समाजक केकरो बेटी-भतीजीरूपी नारी सभक संग भाइ, भातीज, व अन्य समकक्षी […]

अमर संस्कृतिविद् चतुर्भुज आशावादी – एक यथार्थ युगपुरुष

अमर संस्कृतिविद् चतुर्भुज आशावादी – एक यथार्थ युगपुरुष

विशिष्ट व्यक्तित्व परिचयः युगपुरुष चतुर्भुज आशावादी – प्रवीण नारायण चौधरी नेपालक प्रसिद्ध संस्कृतिविद् – अभियानी – कलाकार – निर्देशक – अन्वेषणकर्ता – राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय अनेकानेक कार्यक्रमक आयोजनकर्ताक संग-संग ‘एकल भाषा एकल भेष’ केर नेपालक कड़ा संवैधानिक व्यवस्थाक बावजूद लोकसंस्कृति-लोककला-लोकअभिनय प्रति असीम स्नेह रखनिहार आर सांस्कृतिक आयोजन मे नेपाली भाषा-संस्कृतिक कला-नृत्य आदिक संग मैथिली, राजवंशी, थारू, आदि […]

झारखंड मे मैथिली सेहो होयत दोसर राजभाषा

झारखंड मे मैथिली सेहो होयत दोसर राजभाषा

विशेष संपादकीय झारखंड मे मैथिली – लेखक डा. रविन्द्र कुमार चौधरी द्वारा लिखल एकटा गंभीर शोधमूलक पोथी जाहि मे झारखंडक विभिन्न जिला मे मैथिलीक उपस्थिति केर सुन्दर दस्तावेजीकरण कयल गेल अछि। झारखंड मे मैथिलीभाषीक बसोवासक इतिहास लगभग १००० वर्ष सँ २००० वर्ष केर कालखण्ड निर्धारित करैत देवघर मे बसल मैथिल पंडा समाजक संग डा. जार्ज […]

साहित्य अकादमीक नव संयोजक डा. प्रेम मोहन मिश्र केर नामक घोषणा

साहित्य अकादमीक नव संयोजक डा. प्रेम मोहन मिश्र केर नामक घोषणा

फरबरी १३, २०१८. मैथिली जिन्दाबाद!! साहित्य अकादमी सम्मान सौंपल गेल, नव संयोजक बनलाह डा. प्रेम मोहन मिश्र समाचारः साभार लाइव बिहार डॉ प्रेम मोहन मिश्र केँ साहित्य अकादेमी मे मैथिलीक संयोजक बनायल गेलनि अछि। आइ दिल्ली मे संपन्न बैसारक बाद डॉ मिश्र केर चयन कयल गेलनि। एहि बातक घोषणा होइते साहित्यकर्मी लोकनि द्वारा डॉ प्रेम […]

जानकी मन्दिर केँ विश्व सम्पदा स्थल मे शामिल करेबाक अभियानक भार आब स्थानीय सरकारपर

जानकी मन्दिर केँ विश्व सम्पदा स्थल मे शामिल करेबाक अभियानक भार आब स्थानीय सरकारपर

जनकपुर, १३ फरबरी, २०१८. मैथिली जिन्दाबाद!! काल्हि १२ फरबरी, २०१८ सोम दिन जानकी मन्दिर, जनकपुरधामकेँ विश्व सम्पदा स्थलक सूची मे सूचीकृत करेबाक अभियानक हाल धरिक प्रगतिक दस्तावेज सहित आगामी समय पूरा कयल जायवला विभिन्न चरणक प्रक्रिया लेल सम्पूर्ण जिम्मेवारी अभियानक शुरुआत करयवला संस्था भोर तथा मिथिला पर्यटनक अभियन्ता राज कुमार महतो द्वारा जनकपुर उपमहानगरपालिकाक मेयर लाल […]

नेपाल मे राष्ट्रीय कामकाजक भाषा मे परिमार्जन हेतु भाषा-आयोगक गठन आ प्रगति

नेपाल मे राष्ट्रीय कामकाजक भाषा मे परिमार्जन हेतु भाषा-आयोगक गठन आ प्रगति

समीक्षा नेपाल मे एकल भाषा नीति सँ निजात पेबाक वास्ते नव संविधान किछु प्रावधान त केलक, लेकिन एहि सँ कोनो उत्साहजनक स्थिति आन भाषा लेल ठोस रूप लय सकल तेहेन किछुओ उपलब्धि नहि भेटि सकल अछि। राजनीतिक परिवर्तन लेल संघर्ष मे लागल नीतिकार सब एहि लेल नव संविधानक आलोचना कयलनि आर क्रमशः भाषा आयोग निर्माण […]

जातिवाद व्यवस्था पर रोक लगेबाक विचार हो, कानून बनय

जातिवाद व्यवस्था पर रोक लगेबाक विचार हो, कानून बनय

जातिवादक अन्त पर विचार हो   आइ भोरे-भोर एक विद्यार्थी बैजू यादव भाइ रमानाथ साफी (कम्युनिष्ट पार्टी कार्यकर्ता) केर एक पोस्ट जे मधुबनीक आरके कालेज एहेन महाविद्यालय मे राजद केँ छात्र नेता उम्मीदवार तक नहि भेटबाक बात लालू यादवजीक तरफदारी करैत बजलाह जे एहेन महान नेता लालूजी व हुनक पार्टीक बारे मे एना नहि बाजू, […]

मिथिला सँ विश्व-स्तरीय वैज्ञानिक सपुतक प्रादुर्भाव, पाठक शुभम पराशरक परिचय

मिथिला सँ विश्व-स्तरीय वैज्ञानिक सपुतक प्रादुर्भाव, पाठक शुभम पराशरक परिचय

विशिष्ट व्यक्तित्व परिचयः साईंटिस्ट इन मेकिंग पाठक शुभम पराशर पौराणिक कथा मे मिथिलाक वर्णन ऋषि-मणीषीगणक उत्पत्ति-स्थलक रूप मे कयल गेल अछि। जनक समान महान् शिक्षक दोसर कियो नहि भेलाह, जाहि कारण हिनका सँ शिक्षा ग्रहण करय लेल व्यासपुत्र शुकदेव सँ लैत ताहि युगक एक सँ बढिकय एक स्रष्टाक नामक जिकिर हमरा लोकनिक वेद आ पुराण […]

अर्थहीन यात्रा – मैथिली कथा

अर्थहीन यात्रा – मैथिली कथा

कथा – सुजीत कुमार झा अर्थहीन यात्रा अपन बातक क्रम समाप्त कऽ नेहा घरसँ निकलीह कि हम केबार बन्द कऽ भीतर आबि गेलहुँ । आँखिमे अतीत आ वर्तमान दुनू आकार लेबऽ लागल । हम शोफापर बैसि कऽ पुरान बात सभकेँ स्मरण करैत अपन संगीक जीवनक विषयमे सोचऽ लगलहुँ । किए नेहा संगक मित्रता हमर मायकेँ […]

Page 1 of 216123Next ›Last »