Home » Archives by category » Article » Culture (Page 12)

Ke Likhat Naatak – Pradeep Bihari

Ke Likhat Naatak – Pradeep Bihari

आलेख: के लिखत नाटक? – प्रदीप बिहारी मैथिलिए नहि भारतक आन-आन भाषा सभमे सेहो मौलिक नाटक लिखनिहार बड़ थोड़ अछि। एखनहुँ साहित्यक आन विधाक अपेक्षा नाटक लिखनिहारक संख्या कम अछि। नाटक लिखनिहारक संख्या कम होयब चिन्ताक विषय थिक। जँ संख्या आ अभिलेखक दृष्टिएँ देखल जाय तँ मैथिलीमे कम नाटक नहि लिखायल अछि, मुदा रंगमंचीय दृष्टिसँ बहुत […]

Saras Maithili Book: Dhari Prashna E Uthaiya

Saras Maithili Book: Dhari Prashna E Uthaiya

मैथिली पोथी सियाराम झा सरसक कविता: धरि प्रश्न ई उठैए ई नव प्रस्तुति झारखंड मिथिला मंच द्वारा प्रकाशित आदरणीय सरस केर गोल्डेन जुबिली मैथिली सेवावर्ष यानि ५० वर्ष पूरा भेलाक उपलक्ष्य मैथिली पाठकवर्ग लेल उपलब्ध भेल अछि। मूल्य अछि २०१ टाका। प्रकाशक केर नंबर अछि – ९३३४२२४८७०, ९४३१५००९८२ आ प्रकाशक संयोजन केनिहार मनोज मिश्र द्वारा […]

Maithili Jindabaad Kona

Maithili Jindabaad Kona

मैथिली हरदम जिंदाबाद अछि आ रहबो करत पंकज कुमार झा, मैथिली जिंदाबाद ई शब्द केँ अगर हम शास्वत आ सनातन कही तँ कोनो अतिश्योक्ति नहि होयत. सब सँ पहिने मिथिला आ मैथिली शब्द केर गप्प करी तँ ई शब्दे अपना आपमे चीरंजीविताक प्रतीक अछि. रामायण केर एक कथाक अनुसार ओए समय मे मिथिलाक राजा निमि […]

छठि मैया आ डूबैत-उगैत सूरुजके पूजा

छठि मैया आ डूबैत-उगैत सूरुजके पूजा

छैठ परमेश्वरी के पूजा समस्त मिथिलावासी लेल अति प्राचिन पारंपरिक पूजन समारोह थीक। सामूहिक रूपमें बेसीतर महिला लेकिन गोटेक पुरुष व्रतधारी सभ संग अनेको प्रकारके पकवान व ऋतुफल संग संध्याकालीन सूर्यकेँ हाथ उठाय नमस्कार अर्पण करैत पुनः उषाकाल भोरहरबेसँ छठि परमेश्वरी (उगैत सूरज) केर दर्शन लेल व्रतधारी करजोड़ि ठरल जलमें ठाड़्ह इन्तजार करैत छथि। सूर्योदय […]

चुगला (गीत नाटिका)

चुगला (गीत नाटिका)

चुगला चुगलखोरी करनिहारके कहल जाइत छैक। मिथिलामें मैथिल सभक एक महत्त्वपूर्ण पावैन सामा-चकेवा में चुगला-दहन के गाथा छैक। चलू यैह बहाना हम किछु संस्मरण करी पावैन सामा-चकेवा जे मिथिलामें लोक-पर्व रूप मनयबाक अति प्राचिन परंपरा अछि।  पात्र परिचय: सामा – याने द्वारकाधीश श्री कृ्ष्णकेर बेटी के नाम! प्रकृति-प्रेमसँ आविर्भूत! सदिखन चिड़ै-चुनमुनी, जंगल-पहाड़, नदी-झरना-पोखैर-वन-उपवनमें रमनिहैर !  […]

तीन बात

तीन बात

प्रत्येक मनुष्य लेल निम्न तीन बात विचारपूर्वक करबाक चाही। १. शरीरक तप: देवद्विजगुरुप्राज्ञपूजनं शौचमार्जवम्। ब्रह्मचर्यमहिंसा च शारीरं तप उच्यते॥ देवता, द्विज (ब्राह्मण व जीवन मे संस्कार प्रदान केला उपरान्त दोसर बेर जन्म भेनाय माननिहार), गुरु, प्राज्ञ (विद्वान्, ज्ञानी, गुणी) केर पूजन; शौच (शारीरिक मलादि सँ निवृत्ति, स्नान आ सफाइ आदि) आ मार्जव (शारीरिक सरलता, साधारण […]

श्री महागणेशपञ्चरत्नस्तोत्रम् (श्रीशङ्कराचार्यकृतम्)

श्री महागणेशपञ्चरत्नस्तोत्रम् (श्रीशङ्कराचार्यकृतम्)

मुदाकराक्त मोदकं सदा विमुक्तिसाधकम्। कलाधरावतंसकं विलासि लोकरक्षकम्॥ अनायकैक नायकं विनाशितेभदैत्यकम्। नताशुभाशुनाशकं नमामि तं विनायकम्॥१॥ नतेतरातिभीकरं नवोदितार्कभास्वरम्। नमत्सुरारि निर्जरं नताधिकापदुद्धरम्॥ सुरेश्वरं निधीश्वरं गजेश्वरं गणेश्वरम्। महेश्वरं तमाश्रये परात्परं निरन्तरम्॥२॥ समस्त लोकशङ्करं निरस्तदैत्यकुञ्करम्। दरेतरोदरं वरं वरेभवक्त्रमक्षरम्॥ कृपाकरं क्षमाकरं मुदाकरं यशस्करम्। मनस्करं नमस्कृतां नमस्करोमि भास्वरम्॥३॥ अकिञ्चनार्तिमार्जनं चिरन्तनोक्ति भाजनम्। पुरारिपूर्व नन्दनं सुरारि गर्वचर्वणम्॥ प्रपञ्च नाशभीषणं धनञ्जयादि भूषणम्। कपोलदानवारणं भजे पुराणवारणम्॥४॥ […]

दहेज मुक्त मिथिलाक बढैत डेग

दहेज मुक्त मिथिलाक बढैत डेग

वैद्य ओ पी महतो, दरभंगा। मैथिली जिन्दाबाद, २२ मार्च, २०१५। बिठौली गामक बाबा महेश्वरनाथ मंदिर पर दहेज मुक्त मिथिला द्वारा आयोजित जन सम्पर्क कार्यक्रमक एक टा बैसार कयल गेल जाहि में सर्व श्री श्याम झा,संजय कुमार मंडल,रमेश मिश्र,वंशी बट मिश्र,रामदयाल राय,दिनेश राय,रामाकान्त राय,दिगम्बर मिश्र,हरे गोविन्द राय,पुरुषोत्तम राय,दिवाकर राय,वैद्य ओ पी महतो,संजय मिश्रा,रामशंकर झा,रामदयाल राय आ […]