Home » Archives by category » Article » Culture

सोमवारी व्रत कथा

सोमवारी व्रत कथा

श्रावण मासक दोसर सोमवारी – सोमवारी व्रत कथा   जय भोलेनाथ! जय गौरीशंकर!!   श्रावण पवित्र मासक सोमवारी तिथि – सोमवारी व्रतक विधान मिथिला मे सेहो ओतबे प्रामाणिक आ अधिकतर परिवार मे एहि व्रत उपासनाक परम्परा भेटैत अछि।   सोमवारी व्रत कथा सेहो ओतबे महत्वपूर्ण अछि –   एक गोट व्यापारी व्यापार आ अन्य समस्त […]

अपन मिथिलाक साँझ आ शास्त्र-पुराण-वेद मे वर्णित संध्या केर महत्व

अपन मिथिलाक साँझ आ शास्त्र-पुराण-वेद मे वर्णित संध्या केर महत्व

मिथिलाक लोकजीवन मे साँझ देबाक परम्परा   कहल जाइछ जे एहि धराधाम सँ वेद वर्णित विधान जँ लुप्त भऽ जाय, तँ मिथिलाक लोकजीवन मे स्थापित परम्परा केँ निभेला सँ वेद स्वस्फुर्त प्रकट भऽ जायत। जिनक जन्म आ लालन-पालन मिथिलाक लोकसंस्कार मे भेल ओ सब जनैत छी जे भोरे ब्रह्ममुहूर्त मे उठय सँ लैत नित्यकर्म सँ […]

मानस पूजा आ एकर सारगर्भित महत्व (सभक लेल पढनाय जरूरी)

मानस पूजा आ एकर सारगर्भित महत्व (सभक लेल पढनाय जरूरी)

स्वाध्याय लेख – प्रवीण नारायण चौधरी मानस पूजा आ एकर महत्व भगवत्पूजन केर विधान अनेक अछि। साधारणतया जल, अक्षत, जौ, तिल, दुभि, फूल, बेलपत्र, चन्दन, नैवेद्य, धूप, दीप, ताम्बूल (पान-सुपारी), दक्षिणा, आदि द्रव्य (उपचार) सँ अलग-अलग मंत्र पढिकय भगवान् पर चढेबाक (समर्पण) करबाक नियम हम-अहाँ देखिते छी। चाहे कोनो पूजा हो, सत्यनारायण भगवानक पूजा हो, […]

मिथिला मे मैथिल ब्राह्मणक विवाह मे कि सब होइत छैक – सम्पूर्ण विध-व्यवहार सहित

मिथिला मे मैथिल ब्राह्मणक विवाह मे कि सब होइत छैक – सम्पूर्ण विध-व्यवहार सहित

मिथिला विवाह पद्धति – कि सब चाही विवाह मे, कोन-कोन विध आ केना-केना करब (विस्तृत विवरण सहित) – सीमा झा (मिथिलाक्षर) (संकलन माध्यम – पारस कुमार झा, बनगाँव, सहरसा – २८ मई २०१९, मैथिली जिन्दाबाद!!) मिथिला विवाह पद्धति – (कन्या पक्ष) भगवती, ब्राह्मण, हनुमान आ महादेव क गीत क बाद अहिवाती सब के तेल आ […]

उपनयन-जनेऊ केर महत्व आ मिथिलाक अनुपम संस्कार पद्धति

उपनयन-जनेऊ केर महत्व आ मिथिलाक अनुपम संस्कार पद्धति

जनेऊ केर महत्व   ई फोटो साभार फेसबुक सँ लेल अछि। सम्भवतः उपनयन में चरखा कटबाक सूत काटि जनेऊ बनेबाक उपक्रम केर दृश्य देखा रहल य। लेकिन आब ई सब विध-व्यवहार आ शुद्धताक संस्कार हम सब छोड़ि रहल छी। हम सब मशीनक बनल धागा सँ जनेऊ नाम लेल तैयार कयल पहिरतो छी, कतेको लोक सेहो […]

सन्ध्या-तर्पण केर सम्पूर्ण मिथिला पद्धति

सन्ध्या-तर्पण केर सम्पूर्ण मिथिला पद्धति

सन्ध्या-तर्पण आउ, आइ संध्या-तर्पण करब शिक्षा ग्रहण करी। प्रत्येक द्विज लेल अनिवार्य कहल गेल अछि जे कम सँ कम एक संध्या यानि भोर, दुपहर आ साँझ तीन बेरुक संध्या मे सँ अनिवार्यतः एक संध्या अवश्यक करबाक चाही। तहिना, अपन पितर सभ केँ हुनक गोत्र व नामक संग जलार्घ्य यानि कि तर्पण आवश्यक कहल गेल अछि। […]

विश्वकर्मा पूजा विशेषः संछिप्त पूजा विधि सहित

विश्वकर्मा पूजा विशेषः संछिप्त पूजा विधि सहित

विश्वकर्मा पूजन विशेष विश्वकर्मा पूजा : सम्पूर्ण विधि आइ हम अहाँ केँ विश्वकर्मा पूजा करबाक सम्पूर्ण विधि बता रहल छी आर जानू २०१७ मे विश्वकर्मा पूजा केर तिथि. – जसविंदर कौर रीन (अनुवादः प्रवीण नारायण चौधरी) निर्माण और सृजन केर देवता मानल गेनिहार विश्वकर्मा जी हस्तलिपि कलाकार छथि। एहेन मान्यता अछि जे स्वर्ग लोक, लंका, […]

मिथिलाक लोककला मे ‘सिक्की कला’ केर स्थान आ महत्व

मिथिलाक लोककला मे ‘सिक्की कला’ केर स्थान आ महत्व

आलेख अनुवाद – प्रवीण नारायण चौधरी, मूलः हिन्दी आलेख, साभारः मिथिला कनेक्ट दहेज मुक्त मिथिलाक एक प्रशाखा ‘जानकी वाहिनी’ जेकर उद्देश्य मिथिलाक ग्रामीण घरेलू-कामकाजी महिला लोकनिक खाली समयक उपयोग कय मिथिलाक लोककला व अन्य दक्ष शीप सँ संभव उत्पादन बढाकय ओकर बाजार-वितरणक व्यवस्था आर एहि तरहें उपलब्ध आमदनी सँ महिला लोकनि केँ स्वाबलंबी-स्वरोजगारी बनबैत महिला […]

कथा ओहि गामक जे एक समय बड सुन्दर छल मुदा आब…..

कथा ओहि गामक जे एक समय बड सुन्दर छल मुदा आब…..

कथाः उजैड़ गेल ओ सुन्दर गाम  प्रवीण नारायण चौधरी ओहि गाम केँ लोक सब सुन्दर आ बेसी लोक शिक्षित होबक बात तहियो कहैक, आइयो कहैत छैक। मुदा आब ओ गाम उजैड़ गेल, विरान अछि। लोक रहितो ओतय दिने मे श्मसान जेकाँ लगैत छैक। जतय पहिने सब कियो हँसैत-खेलाइत देखाइत छल, ओतय एहि तरहक सुनसान लागब […]

मिथिलाको कला र वास्तुकला (स्थापत्य)

मिथिलाको कला र वास्तुकला (स्थापत्य)

आलेख – साभार प्रतीक डेली, विरगंज (नेपाल) सँ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक ‘क’वर्गीय पत्रिका सँ लेखकः प्रा. बासुदेवलाल दास, सहप्राध्यापक, इतिहास विभाग, ठाकुरराम बहुमुखी क्याम्पस, वीरगंज लेखकक बारेमेः मिथिलाक इतिहास आ पुरातात्विक सर्वेक्षणपर गहिंर शोध आ कतेको रास पुस्तक प्रकाशित छन्हि। मिथिलाक लोककला, संस्कृति आदिपर सेहो लेखक द्वारा समय-समयपर अनेकों स्तम्भ व आलेख सब नेपाली सहित अन्य-अन्य भाषाक […]

Page 1 of 11123Next ›Last »