Home » Archives by category » Article » Literature (Page 33)

मोरंग सँ मऊ धरि एक बनाउ – शिव कुमार झा टिल्लू

मोरंग सँ मऊ धरि एक बनाउ – शिव कुमार झा टिल्लू

मोरंग सँ मऊ धरि एक बनाउ शिव कुमार झा टिल्लू ************************* सुनू औ मीत प्रीतिक संगीत अपन संस्कृति केर अलख जगाउ भुवन संग मधुप सुमन सेहो भूप आरसी दीपक -इजोत बढाउ हमरे गज आ हमर नवीन हमरे राज आ हमहीं दीन !!! वियोगी -हासमी- अमर -प्रवीण एक मैथिल टा जाति बनाउ………… विहंगम वयना लाज बचौलनि […]

शिक्षाक माध्यम आ ओकर प्रभाव

शिक्षाक माध्यम आ ओकर प्रभाव

विश्व भरि मे प्रसिद्ध छैक जे कोनो भाषाक कथनीकेँ अपना मातृभाषामे अनुवाद करू आ सबसँ नीक जेकाँ ओहि कथनक सारकेँ बुझू। प्राचिन समयसँ लैत वर्तमान आधुनिक शिक्षा प्रणालीमे लोकभाषाक महत्त्व सर्वोपरि छैक। शिक्षककेँ प्रशिक्षणकालसँ लैत निर्देश-पत्रिका मार्फत सेहो यैह सिखायल जाइत छैक जे गूढ सँ गूढ ज्ञानकेँ छात्रक मातृभाषा (स्थानीय भाषा) मे सिखाउ, ताहिसँ समझ-शक्ति […]

छठि मैया आ डूबैत-उगैत सूरुजके पूजा

छठि मैया आ डूबैत-उगैत सूरुजके पूजा

छैठ परमेश्वरी के पूजा समस्त मिथिलावासी लेल अति प्राचिन पारंपरिक पूजन समारोह थीक। सामूहिक रूपमें बेसीतर महिला लेकिन गोटेक पुरुष व्रतधारी सभ संग अनेको प्रकारके पकवान व ऋतुफल संग संध्याकालीन सूर्यकेँ हाथ उठाय नमस्कार अर्पण करैत पुनः उषाकाल भोरहरबेसँ छठि परमेश्वरी (उगैत सूरज) केर दर्शन लेल व्रतधारी करजोड़ि ठरल जलमें ठाड़्ह इन्तजार करैत छथि। सूर्योदय […]