Home » Archives by category » Article » Literature (Page 2)

“सरस्वती वंदना”

“सरस्वती वंदना”

– दीपिका झा।                                         “सरस्वती वंदना” ~~~~~~~~~ जगजननी हे मातु शारदा, विद्या के देवी कहाबै छी। पद्म लोचना, मां ब्रम्हाणी, वीणा मधुर बजाबै छी। श्वेत कमल पर आसन साजल, ताहि पर अहां विराजै छी। वीणा-पुस्तक हाथ शोभैयै, […]

बसन्तक द्वार पर माँ सरस्वतीक अभिनन्दन

बसन्तक द्वार पर माँ सरस्वतीक अभिनन्दन

किसलय कृष्ण, समाचार सम्पादक   जयति जय हे श्वेतवसना, जयति माँ हे सरस्वती… सकलविश्व कल्याण करू,विनती करी हे भगवती… वीणा केर झंकार बनि स्फटिक सन शीतल रही… मंत्र केर उच्चार बनिके माँ सतत भावमे तीतल रही.. परसि दिऔ बुद्धिक इजोत माँ, पसरल सगरे दुर्गति… जयति जय हे श्वेतवसना, जयति माँ हे सरस्वती… अहाँक हंस वाहन […]

“बेटी- गरीबक”

“बेटी- गरीबक”

– बेबी झा।                              “गरीबक बेटी” युग चाहे कोनो हुए गरीबी अभिशाप अछि ओहि में बेटी शब्द जुटि अर्थात “गरीबक बेटी ” पूर्ण अभिशाप |तखने त लोक कहैत अछि -बेटी के जन्म के समय धरती अढाई हाथ तर चली जाईत अछि |जखने […]

“निर्धन के बेटीक व्यथा”

“निर्धन के बेटीक व्यथा”

– कुमारी सोनी।                                    सुरसा सन मुंह साजि बरियाति टक टक ध्यान लगौने छै निर्धन कन्यागत केर जीवन फांसी पर लटकौने छै काईन रहल छैथ कन्या कुमारी जिनका बितो नै बास छै सांझ परात ऊपास पड़ै छै चारक घर […]

“प्रतिमूर्ति- त्याग और संघर्ष के”

“प्रतिमूर्ति- त्याग और संघर्ष के”

– सुधा देवी।                                       लेख गरीबक बेटी ❤️ एकटा गरीबक बेटी केंँ जीवन अभिशाप तेँ नही कैह सकैत छी पर हँ गरीबक बेटी भेनाई संघर्ष पूर्न जरूर रहैत ऐछ बेटी जन्म तँ लैत ऐछ गरीब घर मेँ पर […]

“गरीबक बेटी- वरदान कि अभिशाप..?”

“गरीबक बेटी- वरदान कि अभिशाप..?”

– आभा झा                                          गरीबकबेटी गरीबी अपने-आप में एकटा अभिशाप अछि। गरीब के भोर सांझ मजदूरी केला के बाद भइरपेट खेनाई मुश्किल स भेटैत छैक। गरीबक बेटी या बच्चा सबके शारीरिक तौर पर निक पालन-पोषण नहि […]

“समाजक दर्पण”

“समाजक दर्पण”

– रेखा झा।                                        #गरीबक बेटी रोपनी स लक दाउन करै गरीबक बेटी, स्कूल स नाता नहि घर के बच्चा खेलाबय गरीबक बेटी, जं स्कूल जाय त दू बजिया खेनाई लेल ललचाय गरीबक बेटी, रूप रंग सुंदरता […]

“त्यागक मूर्ति- गरीब परिवारक बेटी”

“त्यागक मूर्ति- गरीब परिवारक बेटी”

-दिलिप मंडल।                                    शिर्षक: गरीबक बेटि गरीबक बेटि यथार्थ मे एक टा समाजक लेल बलाय होइत छनि! जे बेटि जन्म काल स लक मरनोपरान्त धरि समाजिक अबहेलना आ कुबिचार के सहैत छनि!! आ अपन माय बापक मान मर्यादा के […]

“गरीबक बेटी”

“गरीबक बेटी”

-शिव कुमार सिंग                                  लै #गरीबक बेटी# गरीबक जीवन केहन संघर्षपूर्ण होइत अछि इ त एकटा गरीबे बुझय य।मेहनत मजदूरी कय जेना -तेना बिना सख -सेहिंता के अपन परिवारक पालन-पोषण केनाय,ताहि में समाज में उच्च वर्ग के लोकक द्वारा आ […]

“बैसलि गिरिजा हारि…”

“बैसलि गिरिजा हारि…”

_दीपिका झा “नचारी”।                                            ~~~~~ बैसलि गिरिजा हारि, के करतनि पुछारी, एहेन जोगिया संग, कोना रहती दुलारी। मोर पर कार्तिक, मूषक पर गणेश। संग भय तखने, चलि गेला महेश। नै लग में छैन कियो, जे […]