Home » Archives by category » Article » Literature

एक जरूरी आ पठनीय लेखः प्रमाणपत्र

एक जरूरी आ पठनीय लेखः प्रमाणपत्र

प्रमाणपत्र – प्रवीण नारायण चौधरी   जी, एहि लेख मे ओहि ‘प्रमाणपत्र’ अथवा ‘चरित्र प्रमाणपत्र’ आदि केर चर्चा हम नहि करय जा रहल छी जे विद्यालय सँ जारी कयल जाइछ, जाहि मे उल्लेख रहैत छैक जे विद्यालय अवधि मे फल्लाँक चरित्र आ व्यवहार ‘नीक’ देखल गेल। अंग्रेजी मे सेहो एकर प्रस्तुति कतेको लोक केँ स्मरण […]

मैथिलसर्जक कृष्णकान्त झा विरचित बेहतरीन ‘रघुपत्यष्टकं’

मैथिलसर्जक कृष्णकान्त झा विरचित बेहतरीन ‘रघुपत्यष्टकं’

१९ सितम्बर २०२० । मैथिली जिन्दाबाद!! रघुपत्यष्टकं   – श्री कृष्णकान्त झा रचित एक बेहतरीन आ भावयुक्त रचना   राजीवनयन त्रिभुवनभूषण। भवदुःखहरण परमात्म विभो॥ सीतावल्लभ रघुकुलनन्दन। नलिनायतलोचन राम प्रभो ॥1॥   रघुकुलनायक करधृतसायक। मंगलदायक भव पाहि विभो॥ अनुरूप स्वरूप विरूपारूप । अजस्र सहस्त्रस्वरूप प्रभो ॥2॥   शिवमानसहंस रघुवंशवतंश निषूदनकंस सुवंश विभो॥ उत्तम सर्वोत्तम पुरूषोत्तम। नरोत्तम […]

रोचक आ प्रेरणादायक रचना – भाग २

रोचक आ प्रेरणादायक रचना – भाग २

१६ सितम्बर २०२० । मैथिली जिन्दाबाद!! १. नीलम झा केर लेख ‘बेटी केँ शिक्षा कतेक जरूरी’ आइ हम अहाँ सब सँ बेटी के शिक्षा पर बात करब। और ओहि मे हुनकर माय-बाप के कतेक योगदान के जरूरी छन्हि सेहो। ओना त शिक्षा बेटा और बेटी दुनू लेल जरूरी य, मगर हम बेटी के शिक्षा पर आइ […]

रोचक आ प्रेरणादायक रचना – भाग-१ः मैथिली साहित्यक सर्वोत्तम उपयोगिता पर केन्द्रित (अत्यन्त पठनीय)

रोचक आ प्रेरणादायक रचना – भाग-१ः मैथिली साहित्यक सर्वोत्तम उपयोगिता पर केन्द्रित (अत्यन्त पठनीय)

१५ सितम्बर २०२० । मैथिली जिन्दाबाद!! आइ सँ एकटा नव अवधारणा पर चलबाक संकल्प संग मैथिली पाठक लेल सर्वोपयोगी रचना सभक संकलनक धारावाहिक आरम्भ कय रहल छी। मैथिली जिन्दाबाद वेब न्यूजपोर्टल पर साभार फेसबुक आ विशेष रूप सँ ‘दहेज मुक्त मिथिला’ समूह जतय एक सँ बढिकय एक विद्वान् आ विदुषी सदस्य सभ उपस्थित छथिन हुनका […]

दहेजक हिसाब – मिथिलाक कथा

दहेजक हिसाब – मिथिलाक कथा

मैथिली कथा – प्रवीण नारायण चौधरी दहेजक हिसाब पिताम्बर बाबू जमीन्दार परिवार सँ रहथि। हुनकर एकमात्र पुत्र आ दुइ गोट पुत्री रहथिन। बेटा सब सँ पैघ रहथिन। बेटा केँ शहर पठा छात्रावास मे राखि उच्च अध्ययन करौलाह। बेटा सँ बहुत आशा पोसने रहथि। बेटी सब विवाह कय केँ आन घर चलि जायत से सोचि गामहि […]

हमर आदर्श व्यक्तित्व – कथा-संस्मरण

हमर आदर्श व्यक्तित्व – कथा-संस्मरण

लेख – प्रवीण नारायण चौधरी हमर आदर्श व्यक्तित्व   दहेज मुक्त मिथिला समूह मे एतेक रास क्रिएटिव विचारधाराक संगम एक संग अछि जेकर परावार नहि। समूहक एक अत्यन्त सक्रिय बहिन सुश्री राधिका झा (सीतामढ़ी) एक महत्वपूर्ण विषय रखलीह अछि – ‘हमर आदर्श व्यक्तित्व’ केर फोटो संग किछु अनुकरणीय संस्मरण लिखू। संगहि हमरा विशेष रूप सँ […]

नेपालक मैथिली भाषाभाषी समाज मे शिक्षाक वर्तमान अवस्था पर कौशल गोपालवंशीक लेख

नेपालक मैथिली भाषाभाषी समाज मे शिक्षाक वर्तमान अवस्था पर कौशल गोपालवंशीक लेख

लेख – कौशल गोपालवंशी मैथिली भाषाभाषी समाजमे शिक्षाके बर्तमान अबस्था महान मिथिलादेश, जे अङ्ग्रेजके पालामे बिभाजित भ के मिथिलाके सिर (राजधानी जनकपुर सहित) नेपालमे और धर भारतमे बिलिन भ गेल। बिलिन भेलाके बादो मिथिलावासी सब अपना-आपके मैथिली नै कहाबेमे मन पड़बैत अछि। एक समयमे समृद्ध राष्ट्र रहल मिथिला बर्तमान अवस्थामे नेपाल और भारत दुनू देशमे […]

मैथिली भाषा केँ सहज बनेबाक विमर्श – कारण आ उपाय

मैथिली भाषा केँ सहज बनेबाक विमर्श – कारण आ उपाय

कतेक सहज छैक कोनो भाषाक क्लीष्टता केँ दूर करब – प्रवीण नारायण चौधरी, संपादक, मैथिली जिन्दाबाद   संसार मे एहेन कतेको भाषा भेलैक जेकर क्लीष्टताक कारण जनसामान्य ओकर शुद्ध आ प्रचलित मानक पर आधारित लिखित वा मौखिक स्वरूप केँ नहि अपना सकल अछि। लेकिन कोनो भाषा केँ नहि अपनेबाक कारण केवल क्लीष्टता केँ नहि देल […]

भारती झा केर दुइ गोट रचना – दहेज प्रथा आ कतय गेल मिथिलाक दलान

भारती झा केर दुइ गोट रचना – दहेज प्रथा आ कतय गेल मिथिलाक दलान

कविता – भारती झा दहेज प्रथा बिका गेल माय बापक घर तेँ बेटी के घर बसल, केहन अभागल प्रथा अछि ई, दहेजप्रथा जे कतेको घर केँ निगलि चुकल।   यदि बेटी किछु नै कय पायल तेँ बेटा घर बचा लितय जखन ओकर बोली लगैत रहै तखन अपन शिक्षा के महत्व देखा दितय।   ख़ालिये हाथ […]

सावनक संस्मरण – दहेज मुक्त मिथिला पर आयोजित लेखनीक धार केर चयनित कथा “हमर मधुश्रावणी”

सावनक संस्मरण – दहेज मुक्त मिथिला पर आयोजित लेखनीक धार केर चयनित कथा “हमर मधुश्रावणी”

सावनक संस्मरण – दहेज मुक्त मिथिला पर आयोजित लेखनीक धार प्रतियोगिता लेल तेसर चयनित कथा हमर मधुश्रावणी – प्रियम्वदा कुमारी बात आय से पाँच बरख पहिने, 2015 के अछि। बियाहक बाद हम्मर पहिल सावन छल। मधुश्रावणी पूजय लेल हम अप्पन नैहर आयल रही। घर मे मामी, मौसी, दीदी सभक उपस्थिति सँ खूब चहल-पहल छल। हमरा […]

Page 1 of 34123Next ›Last »