Home » Archives by category » Article (Page 138)

सुरुजक छाहरि मे – मनोज साण्डिल्यक पहिल पोथी प्रकाशित

सुरुजक छाहरि मे – मनोज साण्डिल्यक पहिल पोथी प्रकाशित

एखनहि सूचना भेटल अछि जे मनोज झा उर्फ मनोज साण्डिल्य नागदह (मधुबनी) निवासी, मैथिली लोक रंग सँ जुड़ल रंगकर्मी तथा मैथिली भाषा-साहित्यक सेवा मे निरन्तर लेखनी कएनिहार द्वारा अपन पहिल कविता संग्रह ‘सुरुजक छाहरि मे’ प्रकाशित कैल गेल अछि जेकर विमोचन आगामी १० मई, २०१५ हैदराबाद मे कैल जाय। मैथिली साहित्य सदैव स्वयंसेवा आ स्वस्फूर्त स्रष्टाक […]

नेपाल भूकंप: स्वामी रामदेव अनाथ बच्चाक संग असहाय घायल व्यक्तिकेँ संरक्षण प्रदान करता

नेपाल भूकंप: स्वामी रामदेव अनाथ बच्चाक संग असहाय घायल व्यक्तिकेँ संरक्षण प्रदान करता

योगगुरु स्वामी रामदेव आइ भारतीय टेलिविजन न्युज चैनल आजतक पर पुन: खुलाशा केलैन जे नेपाल भूकंप मे ओ स्वयं मौतकेँ अपन आँखिक सामने मे देखलाह, अपन जीवन केँ बाँचि जेबाक बातकेँ बोनस भेटय सँ तूलना करैत बाकीक जीवन सेवाभाव मे आरो जोर-शोर सँ समर्पित करबाक वादा केलनि। संगहि स्वामी रामदेव नेपालक भूकंप सँ प्रभावित अनाथ […]

एक प्रयास तऽ करिकय देखू – नारायण मधुशाला

एक प्रयास तऽ करिकय देखू – नारायण मधुशाला

एक प्रयास तऽ करिकय देखू – नारायण मधुशाला घर घर सँ दहेज भगौने अगर बचैत अछि घरक इज्जत तऽ दहेज हँटाबय लेल हम सब कियैक पछुआयल छी घर घर मे किया हमहीं सब नुकायल छी आगा बढू यौ भैया आगा बढू आगा बढू हे बहिना आगा बढू सामाजिक कैंसर भगाबय लेल शुभ काजक शुरुआत करु […]

ऊपरी बाधा: योग आर उपाय

ऊपरी बाधा: योग आर उपाय

ज्योतिष मणि शंकर ठाकुर, वाराणसी। मैथिली जिन्दाबाद, अप्रैल ३०, २०१५. हम सब जतय रहैत छी ओतय कतेको एहेन शक्ति होइत छैक जे देखाइ नहि पड़ैत अछि मुदा बेसीकाल हमरा सब पर प्रतिकूल प्रभाव पारैत रहैत अछि जाहि सँ हमरा लोकनिक जीवन अस्त-व्यस्त आ दिशाहीन भऽ जाइत अछि। यैह अदृश्य शक्तिकेँ आम भाषा मे ऊपरी बाधाक संज्ञा […]

मैथिली कवि एवं रेडियोकर्मी मणिकान्त झा केर अपील: प्राकृतिक त्रासदी भूकम्प पर संकलित साहित्यिक रचनाक प्रकाशन

मैथिली कवि एवं रेडियोकर्मी मणिकान्त झा केर अपील: प्राकृतिक त्रासदी भूकम्प पर संकलित साहित्यिक रचनाक प्रकाशन

अल ईण्डिया रेडियो – दरभंगा स्टेशन सँ मैथिली समाचारवाचक तथा मैथिली कवि – स्रष्टा सह भाषा अभियानी मणिकान्त झा अपन फेसबुक स्टेटस केर मार्फत सँ मैथिलीभाषी साहित्यकर्मी स्रष्टा सब सँ अपन पूर्वक अनुभव भीषण बाढि पर संकलित रचनाक प्रकाशन अति लोकप्रिय होयबाक बात कहैत वर्तमान नेपाल भूकंप जेकर प्रभाव सगरो मिथिलाक्षेत्र पर पड़ल अछि ताहि […]

हम मैथिल छी!

हम मैथिल छी!

हम मिथिला पुण्यक्षेत्रक बेटा छी, हमरा मैथिल होयबा पर गर्व अछि। बहुत पुण्य केलहुँ तखन मनुष्य रूप मे जन्म भेल, ताहू सँ बेसी पुण्य केलहुँ तखन मिथिला समान पवित्र भूमि जतय सीता समान सर्वश्रेष्ठ पतिव्रता आ सौम्य-शान्त सुमधुर मैथिलीक धरा सँ जनक द्वारा हलेष्ठि यज्ञ केलापर अवतार भेल छल ताहिठाम हमरो जन्म भेल। एहना मे […]

त्रिपाल मे रहनिहार! चलू प्रधानमंत्री निवास बालुवाटार!!

त्रिपाल मे रहनिहार! चलू प्रधानमंत्री निवास बालुवाटार!!

– खगेन्द्र संग्रौला (मूल लेख नेपाली सँ मैथिली मे अनुदित) नेपालमे ८२ वर्ष बाद आयल भूकम्प महाविपत्तिक रुपमे देखा पड़ल अछि। राज्य अकर्मण्य, अनुत्तरदायी आर भ्रष्ट अछि। नागरिक केँ भूकम्प बाद न्यूनतम राहत आर ढाँढस देबयमे सेहो राज्य असमर्थ अछि। भग्नावशेषमे लाश सड़ि रहल छैक। लोक सब चौरी (मैदान) मे जेम्हर-तेम्हर पड़ल अछि। त्रिपालक समस्या छैक। पानिक […]

गरीबीक पाछाँक मूल कारण कि?

गरीबीक पाछाँक मूल कारण कि?

गरीबी और जातियता एक समाचार पढलहुँ जे दरभंगाक बेनीपुर मे बिडियो आ पंचायती राज प्रतिनिधि बीच एकटा बैठक कैल गेल, बिहार राज्य मे एकटा नवका आयोग बनायल गेल अछि, सवर्ण राज्य आयोग तेकरे निर्देशन पर एकटा प्रपत्र दैत बिडियो द्वारा कहल गेल अछि जे अपना-अपना पंचायत सँ एहेन सवर्ण जातिक लोक केर नाम देल जाउ […]

मैथिल बिहारी कोना? आ कियैक?

मैथिल बिहारी कोना? आ कियैक?

बिहार राज्य कोना आ किऐक बनलैक १९१२ मे? कि हम सब बिहारी छी जे बिहार मे बलजोरी घुसा देल गेल? कि हमर अपन संस्कृति, भाषा, भूगोल, इतिहास आ सामाजिकता नहि छल? कि हम भारतीय संघक एक अकाट्य अभिन्न अंग नहि जे विद्याबल सँ भारतक मुकुटमणि बनि रहलहुँ? तऽ आइ हमर पहिचान कि? आइ हमरा लेल […]

मनाओल गेल जानकी नवमी

मनाओल गेल जानकी नवमी

जनकलली जानकी केर जन्मोत्सव रूप मे ‘जानकी नवमी’ जगह-जगह मनायल जेबाक समाचार भेटल अछि। हेराइत मैथिली भाषा आ भोथियाइत मिथिलाक पहिचानक रक्षार्थ एकटा महत्त्वपूर्ण दिवसकेर रूप मे ‘जानकी नवमी’ मनेबाक परंपरा विगत किछु वर्ष सँ किछु खास अन्दाज मे शुरु कैल गेल अछि। माँ सीता प्रति भक्ति-भावनाक अनेको स्वरूप अछि। सीताक जीवन-चरित्र मानव समुदायकेँ जीवनमे समस्त […]