Home » Archives by category » Article (Page 131)

पापनाशक आ शक्तिवर्धक तपश्चर्या

पापनाशक आ शक्तिवर्धक तपश्चर्या

(मूल आलेख ‘पापनाशक और शक्तिवर्धक तपश्चर्याएँ’ – अखिल विश्व गायत्री परिवार केर साहित्यालेख केर मैथिली अनुवाद) आइगक उष्णता सँ संसारक समस्त पदार्थ या तऽ जरि जाइत अछि, या बदैल जाइत अछि या गैल जाइत अछि। एहेन कोनो वस्तु नहि जे आइगक संसर्ग भेला पर परिवर्तित नहि होइत अछि। तपस्याक आइग सेहो एहने होइत छैक। ई […]

साहित्य अकादमीक पुरस्कार वितरण प्रणाली – मैथिली साहित्यसेवीक ध्यानाकर्षण

साहित्य अकादमीक पुरस्कार वितरण प्रणाली – मैथिली साहित्यसेवीक ध्यानाकर्षण

पूर्व मे ‘साहित्य अकादमी: संछिप्त परिचय’ आलेखक लोकप्रियता देखैत – मैथिलीक महान हास्य सम्राट आ विद्वान् कवि डा. जयप्रकाश चौधरी ‘जनक’ केर उदाहरण संग चलल फेसबुकिया चर्चा सँ साहित्य अकादमीक कार्यप्रणाली पर उठल प्रश्नक समाधान हेतु अकादमीक अधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार देवेश द्वारा देल लिंक आ ताहि पर उपलब्ध जानकारी फेर ‘मैथिली जिन्दाबाद’ पर राखल […]

मैथिली साहित्यक नव अंशु: अमित मिश्र संग साक्षात्कार

मैथिली साहित्यक नव अंशु: अमित मिश्र संग साक्षात्कार

मैथिली साहित्य मे नवतुरिया रचनाकारक प्रवेश एकदम न्यून देखाइतो, जतेक उपस्थिति अछि से कम नहि। एहि क्रम मे मात्र किछुए वर्ष मे अनेको रचना सँ मैथिली केँ पुष्ट कएनिहार अमित मिश्र संग भेल साक्षात्कारकेँ मैथिली जिन्दाबाद पर प्रकाशित कैल जा रहल अछि। अमितजी! बधाई! अहाँक साहित्य यात्रा बहुत कम उम्र मे नीक उत्कर्ष पर पहुचबाक […]

मैथिली गायन केर स्वरकोकिला: रंजना झा

मैथिली गायन केर स्वरकोकिला: रंजना झा

किसलय कृष्ण, सहरसा। मई ११, २०१५. मैथिली जिन्दाबाद विशिष्ट व्यक्तित्व परिचय: गायिका रंजना झा मूलत: अररिया जिलाक देवीगंज मे जन्म भेलनि रंजनाक – पिता भागवत मिश्र वियोगी जनसम्पर्क विभाग मे नौकरी करैत रहबाक कारणे रंजनाक शिक्षा बाहरे भेलनि। बचपने सँ संगीत संग लगाव केर कारण हिनक सांगीतिक शिक्षा सेहो समानान्त रूप सँ चलल। पंचगछिया घराना […]

विशिष्ट व्यक्तित्व: शिवा कान्त झा

विशिष्ट व्यक्तित्व: शिवा कान्त झा

  शिवा कान्त झा – एक अद्भुत बहुमुखी प्रतिभासंपन्न व्यक्तित्व भारतीय गणराज्यक एक अवकाशप्राप्त उच्चाधिकारी वर्तमान भारतीय सर्वोच्चा न्यायालयक एक प्रखर वकील आध्यात्म आ विज्ञानक बीच सदैव सुन्दर सामंजस्य बनौनिहार संपूर्ण दार्शनिक – प्रखर विचारक मनुष्यरूप मे जीवनकालक महत्त्व आत्मसात कएनिहार एक ‘बुद्ध’ संछिप्त परिचय: दरभंगा जिलाक कुर्सों गाम मे हिनक जन्म १९३७ ई. मे एक देशसेवी – […]

विराटनगर अमैकस समारोह संस्मरण: सियाराम झा सरस

विराटनगर अमैकस समारोह संस्मरण: सियाराम झा सरस

मैथिली जिन्दाबाद: अभिनव समाचार पोर्टल महायात्राक सालाना समारोह ऐतिहासिक: विराटनगर, ११ अप्रैल – २०१५, दिन शनिवार। प्रात:काल १० बजे सँ उपस्थित डेढ सय सँ बेसी प्रतिनिधिक संग श्री राम-जानकी मंदिर परिसरक ‘रजत सभागार’ मे मिथिला-मैथिली उत्थान हेतु चलाओल गेल महायात्राक वार्षिक उत्सव उल्लास-हर्षक संग आरंभ भेल। दीप जराय उद्घाटन कएलनि भारत सँ आयल मुख्य अतिथि […]

मैथिली गजल – विद्यानन्द बेदर्दी

मैथिली गजल – विद्यानन्द बेदर्दी

गजल माथमे टिकुली, हाथमे चुड़ी, देहमे सारी अहाँकऽ ठोर मधुरसके प्याला, नयन कजरारी अहाँकऽ कहैछी अपन सप्पत बड्ड सोहाइयऽ, गोर-गोर गाल पर तिलवा कारी अहाँकऽ छी प्रेमरुपी भीख माइङग रहल, देखु जेना रही हम भिखारी अहाँकऽ मोन हमर जा धरि हियामे सांस रहै, ता धरि जीवनरुपी दपर्णमे निहारी अहाँकऽ साँझ-भोर जपैछी अहींके नामक माला, हँ […]

श्रीदेव्यथर्वशीर्षम् : एक अत्यन्त महत्त्वपूर्ण उपनिषद स्तोत्र – देवी उपासना (मैथिली भावार्थ सहित)

श्रीदेव्यथर्वशीर्षम् : एक अत्यन्त महत्त्वपूर्ण उपनिषद स्तोत्र – देवी उपासना (मैथिली भावार्थ सहित)

कनेक मनन करू! दुर्गा सप्तशती मिथिलाक हर घर लेल एक आवश्यक पोथी मानल जाइत अछि। जे कियो भक्ति साधना सँ जुडल छी, तिनका सभकेँ जरुर देवी उपासनाक महत्त्व बुझल होयत। एक चर्चा हम एतय करय लेल जा रहल छी ओ अछि श्रीदेव्यथर्वशीर्षम् केर मादे – अथर्ववेद मे देल गेल महिमा अनुरूप आ स्वयं हमरा लोकनि […]

भजन: निलकंठ मधुकर पदावली

भजन: निलकंठ मधुकर पदावली

– पंडित मधुकान्त झा ‘मधुकर’, ग्राम: चैनपुर, सहरसा, मिथिला जनकपुर स्थित कमनीय अनुपम कोबर मे सीताराम के। शक्तिब्रह्म समक्ष माय सीताक अनुचरी के उक्ति॥ दूलहा राम के प्रति: हिऔ मिथिला के दूलहा कमाल करै छी। दीन दुखिया बेहाल के नेहाल करै छी॥ हिऔ मिथिला…… हम जानै छी, हम जानै छी, कृपा सिया के महिमा बखानै […]

मैथिली जिन्दाबाद

मैथिली जिन्दाबाद

करयवाला करिते रहैत छय मरयवाला मरिते रहैत छय यैह थिकैक संसारक रेबाज ई दुनिया अपन गति सँ सतति चलिते रहैत छय! आउ करी एके टा कोनो काज बना कऽ राखि मिथिला अपन राज! पढबो करी अपन गामक बात, तखनहि हेतैक बूझू जे मैथिली जिन्दाबाद!! मैथिली जिन्दाबाद!!