Home » Archives by category » Article (Page 131)

एकाग्रता कोना साधब: विनोबा भावे

एकाग्रता कोना साधब: विनोबा भावे

आलेख (भावानुवाद) – प्रवीण नारायण चौधरी संसार भरिक वेत्ता लोकनि श्रीमद्भागवद्गीता केँ अध्ययन-मनन आ तदनुसार प्रवचन करैत रहला अछि। एहि पाँति मे आचार्य विनोबा भावे केर स्थान अग्रस्थान मे पड़ैत अछि। हिनक रचना ‘गीता-प्रवचन’ केर एकटा अलगे महिमामंडन इतिहास द्वारा कैल जाइछ आ जे कियो हिनक एहि अमर रचना केर रसास्वादन करैत छथि हुनको जीवन […]

भाषा और रोजगार

भाषा और रोजगार

आलेख – प्रवीण नारायण चौधरी वर्तमान भौतिकवादी युग मे जखन कि आध्यात्मवादक असर मानवीय व्यवहार मे न्युन बनि गेल छैक, तथापि भाषा-व्यवहार मानवीय संवेदना-भावना केँ प्रकट करबाक एकमात्र साधन रहलाक कारणे अपन स्थान नित्य नव-नव रूप मे निरंतर बनौने अछि। भाषाक साधारण परिभाषा अपन भावना शब्द-वाणीक माध्यम सँ दोसर पर प्रकट केनाय होइत छैक। हर […]

मैथिलीक महान् पुरोधा स्रष्टा ‘मधुकांत मधुकर’ साहित्य अकादमी सम्मान सँ वंचित

मैथिलीक महान् पुरोधा स्रष्टा ‘मधुकांत मधुकर’ साहित्य अकादमी सम्मान सँ वंचित

विजय झा, कहरा, सहरसा। मैथिली जिन्दाबाद! जुन ३१, २०१५.   हजारों मैथिली गीत आ कतेको रास पोथीक रचनाकार ९२ बसंत पार कय चुकल चैनपुर निवासी पं. मधुकांत झा मधुकर आइयो अपन साधना मे लीन रहैत छथि। क्षेत्रक लोक सब विद्यापति जेकाँ मधुकर बाबा केर रचित भजन श्रद्धापूर्वक गबैत अछि। लोक सब केँ बहुत दु:ख छैक […]

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस आ मिथिला योगीश्वर लक्ष्मीनाथ गोसाईं

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस आ मिथिला योगीश्वर लक्ष्मीनाथ गोसाईं

राहुल – जय हो बन्गाम, सहरसा। जुन २१, २०१५. पहिल अन्तराष्ट्रीय योग दिवस केर अवसर पर मिथिलाक योगी श्री श्री 108 संत कवि लक्ष्मीनाथ गोसाईं जीक योगी होयबाक तथ्य राखि रहल छी। ई मैथिली अकादमी सं प्रकाशित डॉ. फुलेश्वर मिश्र जी रचित संत कवि लक्ष्मीनाथ गोसाईं किताब सँ उद्धृत अछि। सुप्रसिद्ध कवि-उपन्यासकार बैद्यनाथ मिश्र “यात्री” […]

उमा बाबुक जनचेतना अभियान: भगवानक गीत – प्रार्थना

उमा बाबुक जनचेतना अभियान: भगवानक गीत – प्रार्थना

मैथिली भगवानक गीत – उमाकान्त झा ‘बक्शी’ प्रार्थना जीवहुँ मे सब सँ श्रेष्ठ हमहीं, मानुष तन अछि वरदान हमर। अर्पित कृतज्ञता केर आखर, स्वीकार करू भगवान हमर। जीवहुँ मे सब सँ श्रेष्ठ हमहीं………   अछि अनंत ब्रह्माण्ड आहाँक, धरती केर गणना शून्य सदृश। धरती विशाल, रचना अनंत, जीवहुँ में मानव शून्य सदृश। हे नियति नियन्ता […]

धर्म दर्शन: ॐ तत्सत्

धर्म दर्शन: ॐ तत्सत्

ॐ तत्सत् मीमाँसा ॐ, तत् आ सत् – ब्रह्म केर परिचायक यैह तीन नाम – एहि तीन सँ ब्रह्म, वेद आ यज्ञक भान होइत अछि। भगवत् भजन, दान आ तप – शास्त्रीय वचनानुसार आ वेदानुसार, शुरुआत ‘ॐ’ सँ कैल जाइछ। तहिना ‘तत्’ केर उद्घोष, बिना कोनो प्राप्तिक इच्छा, विभिन्न पूजा-कर्म, तप आ दान करनिहार केँ […]

ई केहेन पैघ लोक?

ई केहेन पैघ लोक?

नैतिक कथा – प्रवीण नारायण चौधरी पैघ लोक केर परिभाषा ओना तऽ बड सहज छैक जे पैघत्व केँ धारण करय से पैघ भेल, मुदा पैघ कहेनिहार अपन निज भान सँ जँ पैघ बनि जाय तऽ ओकर पैघत्व पर प्रश्न चिह्न लागि जाइत छैक इहो यथार्थ आ व्यवहारिक जगत् केर सत्य थिकैक। उच्च जाति वा कुल-मूल […]

भूकम्प: अभिमन्यु खाँ केर नव ‘मैथिली कविता’

भूकम्प: अभिमन्यु खाँ केर नव ‘मैथिली कविता’

“ई रचना खासकय मैथिली जिन्दाबाद पर प्रथम प्रकाशनार्थ रचल गेल अछि। जीवन मे रचना मात्र सर्वोपरि धर्म मानैत आबि रहल छी। मातृभाषा मैथिलीक मिठास जखन दुनिया केँ नीक लागि सकैत छैक तऽ हम स्वयं एक शिक्षित आ अखण्ड बिहारक सर्वोच्च शिक्षा संस्था ‘नेतरहाट आवासीय विद्यालय’क प्रधानाचार्य रूप मे एकरा सँ कटल कोना रहि सकैत छी। […]

मिथिला ब्रान्ड एम्बेसडर: मैथिल युवा शक्ति

मिथिला ब्रान्ड एम्बेसडर: मैथिल युवा शक्ति

मिथिला युवा शक्ति – प्रवास पर बेसी प्रखर (किछु दिन पूर्व कोलकाता सँ प्रकाशित युवा शक्ति मे मिथिला-युवा पर प्रकाशित कैल भेल छल। एक बेर फेर अहाँ सबहक लेल एहि पोस्ट मे राखि रहल छी।)  सर्वविदित ‘मिथिला-चिन्तन’ अछि जे वर्तमान युगक सर्वथा युवा-शक्ति अन्य राज्यक प्रगति मे ‘श्रमदानी’ बनि खपि रहल अछि। हमरा सबहक ८० […]

मिथिलाक मुंगेरीलाल: मुंगेरीलाल मैथिल

मिथिलाक मुंगेरीलाल: मुंगेरीलाल मैथिल

मुंगेरीलाल मैथिल भुमिका: हँ! हँ! मुंगेरीलाल वैह जे भारतीय दुरदर्शन डीडी१ चैनल सँ धारावाहिक केर पात्र छल। बेसी उम्मीद ओ बिहारहि केर कोनो भाग सँ छल सैह देखायल गेल स्मृतिमे अबैछ। शहरी परिवेश मे पलायनदंशक शिकार मुंगेरीलाल प्रवेश पबिते अचानक अपना-आप मे कहियो राजनेता, कहियो अभिनेता, कहियो सुपरमैन, कहियो भगवान्, कहियो हाकिम, कहियो राजा… विभिन्न […]