Home » Archives by category » Article (Page 128)

ई १६ चक्रवर्ती राजा छथि भारतवर्षक निर्माता: भाग ५ (अन्तिम)

ई १६ चक्रवर्ती राजा छथि भारतवर्षक निर्माता: भाग ५ (अन्तिम)

एहि सँ पूर्व ‘ई १६ चक्रवर्ती राजा छथि भारतवर्षक निर्माता’ केर चारि टा भाग प्रकाशित कैल जा चुकल अछि। सनातन भारतवर्षक परिचित पौराणिक इतिहास अनुसार हिनका लोकनिक योगदान केँ सदैव स्मरण राखल जाइत अछि। यैह कारण सँ ई महत्त्वपूर्ण इतिहास केर वृत्तान्त मैथिली जिन्दाबाद पर प्रकाशित कैल जा रहल अछि। एहि सँ पूर्वक लेखादि पढबाक […]

जानकी स्तुति

जानकी स्तुति

भई प्रगट किशोरी, धरनि निहोरी, जनक नृपति सुखकारी अनुपम बपुधारी, रूप सवारी, आदि शक्ति सुकुमारी मणि कनक सिंघासन, क्रिताबर आसन, शशि शत शत उजियारी शिर मुकुट बिराजे, भूषण साजे, नृप लखी भये सुखकारी सखी आठ सयानी, मन हुलसानी, सेवहि शील सुहाई नृपति बड़भागी, अति अनुरागी, अस्तुति करत मन लाइ जय जय जय सीते, श्रुतिगन गीते, […]

नहि रहला ‘घटक बाबु’: मैथिली जिन्दाबाद केर तरफ सँ अश्रुपूर्ण श्रद्धाञ्जलि

नहि रहला ‘घटक बाबु’: मैथिली जिन्दाबाद केर तरफ सँ अश्रुपूर्ण श्रद्धाञ्जलि

जुलाई २१, २०१५. मैथिली जिन्दाबाद!! मैथिली जिन्दाबाद केर परम सहयोगी आ साहित्यसेवी युवा अभियानी गिरिन्द्रनाथ झा केर पूज्य पिता पंडित गौरी नाथ झा केर देहावसान समाचार घटक बाबुक नाम सँ प्रसिद्ध पंडित गौरी नाथ झा मात्र ६५ वर्ष केर आयू मे एहि मर्त्यभूमि केँ छोड़ि देलाह – विगत किछु मास सँ अस्वस्थ छलाह आ डाक्टरी […]

पुरी और अहमदाबाद मे जगन्नाथ रथयात्रा

पुरी और अहमदाबाद मे जगन्नाथ रथयात्रा

पुरी रथयात्रा पर विशेष प्रस्तुति – विकास झा, भुवनेश्वर, उड़ीसा (मैथिली जिन्दाबाद!!) अपन देशक प्रमुख पर्व यथा होली, दीवाली, दशहरा, रक्षा बंधन, ईद, क्रिसमस, वैशाखी आदि में पुरीक रथयात्रा सेहो अपन एक विशेष स्थान रखैत अछि। रथयात्रा एकटा एहन पर्व थिक जाहि में भगवान जगन्नाथ जनसमुहक मध्य अबैत छथि आ ओकर सुख दुःख में सहभागी […]

गरम फोटो गरम गीत – मिथिला के है नवका रीत

गरम फोटो गरम गीत – मिथिला के है नवका रीत

व्यंग प्रसंग जनकपुर बजार पर रमना आ चुमना पोस्टकार्ड कीन रहल छल। रमना दोकानदार सँ कहलकय जे भाइ हौ, हमरा मैथिली फिल्मी हिरोइन के फोटो दहु। ओकर बात सुनिकय दोकानदार कहलकय मैथिली फिल्म मे कौन ऐसन हिरोइन है जे तोरा निमन लागय हौ। तयपर रमना कहलकय नाम हम आर ओतना कहाँ जानय छी। सुनली जे […]

शिव-प्रार्थना एवं महामृत्युञ्जय मंत्र

शिव-प्रार्थना एवं महामृत्युञ्जय मंत्र

स्वाध्याय आलेख: – प्रवीण नारायण चौधरी जगत् केर स्वामी देवाधिदेव महादेव केर चरण मे बेर-बेर प्रणाम करैत किछु मंत्रपुष्प समर्पित करैत छी। गत्तेक हिसाबे श्रावण लागि गेल अछि, ओना पुर्णिमा दिन ३१ जुलाई सँ श्रावणी पूजन-अर्चन शुरु होयत, तथापि ‘मैथिली जिन्दाबाद’ पर गौरी सहित शंकर केर शरण मे ई पहिल समर्पण कैल जा रहल अछि। […]

श्रीमद्भागवद्गीता आ निरंतर साधना

श्रीमद्भागवद्गीता आ निरंतर साधना

गीता बुझौवैल – अपन विचार! (भगवानक विराटरूपक दर्शन – शोक सँ ज्ञानोपदेशक मार्ग भगवानक दर्शन पर एक समीक्षा) गीताक ११म अध्याय केर ३५म श्लोक मे संजय कहैत छथिन…. एतच्छ्रुत्वा वचनं केशवस्य कृताञ्जलिर्वेपमान: किरीटी॥ नमस्कृत्वा भूय एवाह कृष्णं सगद्गदं भीतभीत: प्रणम्य॥३५॥ ‘कृष्णक एहि तरहक वचन-संबोधन सुनि, सगद्गदी अर्जुन कृत-कृत्य दुनू कल जोड़ने नमस्कार करैत, थरथराइत शरीर […]

हेलो! हम समाजवाद बाजि रहल छी!! – सुप्रसिद्ध ब्लागर शिवम भट्ट केर आलेखक मैथिली अनुवाद

हेलो! हम समाजवाद बाजि रहल छी!! – सुप्रसिद्ध ब्लागर शिवम भट्ट केर आलेखक मैथिली अनुवाद

‘भरी दुपहरी’ ब्लागर ‘शिवम भट्ट’ केर ‘हलो मैं समाजवाद बोल रहा हूँ’ केर मैथिली अनुवाद – स्रोत: नवभारत टाइम्स बीतल शुक्र दिन यूपीक एकटा पुलिस अफिसर केँ प्रदेश मे समाजवादक ‘पुरोधा’क तरफ सँ कैल गेल कॉल केर एकटा ऑडियो टेप जारी भेल। ओहि मे अफिसर केँ बड़ा ‘प्रेम’ भरल शैली मे बतौर मुख्यमंत्री अपन कार्यकाल मे […]

बक्रबुद्धि जखन ज्ञानी भऽ सकैत अछि……………..

बक्रबुद्धि जखन ज्ञानी भऽ सकैत अछि……………..

बक्रबुद्धिक आँखि सेहो खुजि गेलैक! (नैतिक कथा) – प्रवीण नारायण चौधरी सुबुद्धि आ बक्रबुद्धि एक्कहि गामक दुइ बरोबरि उम्रक युवा छल। सुबुद्धि अपन नामहि अनुरूप सुन्दर कार्य मे ध्यान दैत छल। बक्रबुद्धि अपने जतेक काज करय से बक्रे आ सुबुद्धिक काजक कूचर्चा ओकर खास काज मे सँ एक छलैक। भैर गामक लोक केँ पता छलैक […]

मिथिला मे खच्चरहि प्रसंग – ४: दहेजक माँग आ वरागत-कन्यागतक कनफूसकी

मिथिला मे खच्चरहि प्रसंग – ४: दहेजक माँग आ वरागत-कन्यागतक कनफूसकी

व्यंग प्रसंग – संतोष कुमार संतोषी दहेजिया …..”खच्चरैहि” बरक देखा-सुनी भ गेल रहै… हंगामा लोक दरबज्जा पर बैसल गप सरक्का के आनन्द ल रहल छल. लगभग समुच्चा समाज बैसल छल भैरू बाबू के दलान पर…. किएक नै… आय हुनका बेटा प्रति कन्यागत सब जे एलखिन अई….. चाह पानक त बुझू तुर्रा उठल अई,, जनानी सब […]