Home » Archives by category » Article (Page 127)

माँ जगदम्ब आराधना: भक्ति साधना सर्वोपरि

माँ जगदम्ब आराधना: भक्ति साधना सर्वोपरि

स्वाध्याय आलेख शुरु करैत छी एकटा सुन्दर सनक जगदम्बाक प्रार्थना सँ: – मयंक मिश्र, पोखरौनी, मधुबनी द्वारा फेसबुक मार्फत पूर्व मे देल गेल ई सुन्दर भजन: हे जगदम्ब जगत्‌ माँ काली, प्रथम प्रणाम करै छी हे! प्रथम प्रणाम करै छी हे मैया प्रथम प्रणाम करै छी हे! हे जगदम्ब जगत्‌ माँ काली… सुनलौं कतेक अधम […]

सहरसाक सड़क सँ वॅालीवुडक सिल्वर स्क्रीन धरि: पंकज झा

सहरसाक सड़क सँ वॅालीवुडक सिल्वर स्क्रीन धरि: पंकज झा

किसलय कृष्ण, सहरसा। जुलाई २७, २०१५. मैथिली जिन्दाबाद!! सहरसा जिलाक प्रसिद्ध गाम मुरादपुर जन्म लेनिहार पंकज झा सम्प्रति वॅालीवुडक कला फिल्मक चर्चित अभिनेता बनि चुकल छथि । सहरसा सँ प्राथमिक शिक्षाक बाद बिहार आर्ट्स कालेज सँ बी एफ ए केलनि आ फेर राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय नई दिल्लीक रेपर्टरीमे अभिनेताक रुपमे योगदान देलनि । रंगमंचसँ ओ […]

सरस गीत – कुकुरक नाङड़ि सोझ करै मे लागल छी

सरस गीत – कुकुरक नाङड़ि सोझ करै मे लागल छी

कुकुरक नाङड़ि – सियाराम झा सरस कुकुरक नाङड़ि सोझ करै मे लागल छी अहाँ बुझइ छी पागल, तँ हम पागल छी अइ नाङड़ि लै भेल कतेको बुधिबधिया धिमका भए गेल चौरस, चौरस भेल खधिया बारह बापुत सोझ करै छी पुछड़ी केँ जेना अगत्ती नेन्ना गीजए छुछड़ी केँ नहे सँ जतबा सकैत छी – खोंटै छी […]

मिथिला राज्य निर्माण सेना कतय हेरा गेल?

मिथिला राज्य निर्माण सेना कतय हेरा गेल?

आलेख – प्रवीण नारायण चौधरी हालहि एकटा रेडियो साक्षात्कार मे मिथिला राज्य निर्माण सेनाक राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर नाथ झा सँ सुप्रसिद्ध मैथिली-मिथिला अभियानी एवं सी एफएम ९४.७ मेगाहर्ज राजविराजक स्वामिनी साक्षात्कार लैत समय प्रश्न पूछलखिन जे ई संस्थाक वर्तमान एहेन करगर जरुरतक समय चुप कियैक अछि। ई प्रश्न दिनहु विभिन्न स्रोत द्वारा पूछल जाइत अछि […]

भगवान् श्रीराम केर दैनिक चर्याक स्वरूप: मानव जीवन लेल अनमोल संदेश

भगवान् श्रीराम केर दैनिक चर्याक स्वरूप: मानव जीवन लेल अनमोल संदेश

अनुवादित आलेख लेखक: श्री कमल प्रसाद जी श्रीवास्तव अनुवाद: प्रवीण नारायण चौधरी चतुर्मास केर विशेष अवसरपर हमरा लोकनि केँ सौभाग्य सँ श्री राम जी केर दैनिक चर्याक स्वरूपसँ शिक्षा पेबाक मौका भेटल अछि। आशा अछि जे हम सब एहि सँ समुचित लाभान्वित होयब। भगवान्‌ श्रीराम अनन्त-कोटि-ब्रह्माण्ड-नायक परम पिता परमेश्वरक अवतार छलाह और धर्मक मर्यादा रखबाक लेल भारतभूमि अयोध्यामे […]

शिव चालीसा (मैथिली रूप)

शिव चालीसा (मैथिली रूप)

दोहा: जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान॥ कहय अयोध्यादास प्रभु, दियौ अभय वरदान॥   जय गिरजापति दीनदयाला, सदा करी सन्तन प्रतिपाला॥१॥ भाल चंद्रमा सोहय नीके, कानन कुंडल नाग फनीके॥२॥ अंग गौर शिर गंग बहाबी, मुंडमाल तन छाउर लगाबी॥३॥ वस्त्र खाल बाघम्बर सोहय, छवि केँ देखि नाग मन मोहय॥४॥ मैना मातु केर वैह दुलारी, बाम […]

सुनु-सुनु मुरलिया केर तान सजनी – आहाँ बसय छी हमरे प्राण सजनी

सुनु-सुनु मुरलिया केर तान सजनी – आहाँ बसय छी हमरे प्राण सजनी

गीत – मनीष झा, द्वालक, मधुबनी (हाल: मुम्बई) (मैथिली गीतकार, कवि एवं कलाकार – अभिनेता) सुनू-सुनू मुरलिया केर तान सजनी आहाँ ब’सै छी हमरे प्राण सजनी आनल लहठी नै माँगी हम प्रीत मँगनी -2 हे आहाँ ब’सै छी हमरे प्राण सजनी आहाँ ब’सै छी ……………… चलू मिल कमला के छ’हैर में बैसब अपना दुनू छोड़ि […]

बाप केँ एना ठकलनि गोनू झा

बाप केँ एना ठकलनि गोनू झा

गोनू झा क रोचक कथा: बालकथा – संकलन: प्रवीण नारायण चौधरी गोनूक पिता एक दिन कहलखिन “रे गोनू! दुनियामे सबकेँ ठकलें, मुदा बाप तोहर बापे रहि गेलौक।” गोनू हँसैत कहलखिन “बाप तऽ बाप होइते छैक, मुदा कला मे बेटा सेहो बापोक बाप बनि जाइत छैक।” पिता पूछलखिन “कि मतलब?” गोनू कहलखिन “रुकू! समय पर कहब।” […]

नवका हरिमोहन झा उर्फ संतोषीक टटका प्रसंग: उन्नैति कि खच्चरहि!!

नवका हरिमोहन झा उर्फ संतोषीक टटका प्रसंग: उन्नैति कि खच्चरहि!!

यथार्थ व्यंग्य – संतोष कुमार “संतोषी” उन्नैति…. की “खच्चरैहि “ से सत्ते, हम सब गोटे बेसिये उन्नैतिक बाट पर छी…. पुरना रिति रेवाज, रहन सहन आ समाजिक सुसंस्कृति केँ ताख पर राखि नव-नव विचार नव-नव व्यवहार केँ संग सत्ते बेसिये उन्नैति कय रहल छी……! जाईत-पाईत अनुसारे काज बाँटल गेल रहय कि काजक अनुसारे जाईत-पाईतक बँटवारा भेल छल […]

मिथिला के बौस

मिथिला के बौस

गीत – प्रवीण नारायण चौधरी ‘किशोर’ (जनवरी १०, २०१२ केर रचना – फेसबुक पर किशोर एनसी द्वारा प्रकाशित, अन्तिम २ पाराग्राफ आइये जोड़ल गेल) सासुर हमर जनकपुरमे, मधुबनी के ननिया सौस! गाम अपन दरभंगा अछि, पुर्णियाक मौसिया सौस! पीसी हमर बरौनीमे छै, चलै अछि सगरो धौंस! जेम्हरे देखु अपनहि लोक, हम मिथिलाके बौस! खगड़ियामे हमर […]