Home » Archives by category » Article

युवा प्रतिभा एस. के. मैथिल आर मातृभाषा मैथिली प्रति समर्पण ओ सेवाक अनुपम दृष्टान्त

युवा प्रतिभा एस. के. मैथिल आर मातृभाषा मैथिली प्रति समर्पण ओ सेवाक अनुपम दृष्टान्त

व्यक्तित्व परिचयः युवा सर्जक एस. के. मैथिल मातृभाषा मैथिली लेल जैड़ पटेबाक काज मे नेपालक मिथिलाक योगदान भारतक मिथिला सँ बहुतो मामिला मे भिन्न आ श्रेष्ठ छैक। भिन्न एहि लेल जे भारत मे जातिवादी नेतागिरी मे लागल कुटिचालि कयनिहार अगुआ द्वारा मैथिली केँ सेहो उच्च जातिक भाषा कहिकय दुष्प्रचार कयल गेलैक जाहि सँ बहुल्यजन मैथिल […]

विद्वान् आ शोधकर्ताक खोज, एक आम अपील

विद्वान् आ शोधकर्ताक खोज, एक आम अपील

अपील   समस्त मैथिल जनमानस!   मिथिलाक समग्र विकास आ समाजक प्रगतिक संग एहि अत्यन्त प्राचीन सभ्यताक दूरगामी संरक्षण लेल कार्यरत जाग्रत मैथिल अभियानी लोकनिक अगुवाई मे हम सब दरभंगा मे सेमिनार राखि रहल छी। विद्वान् चाही १० गो जे मिथिलाक आर्थिक उपेक्षा आ लोकपलायन रोकबाक उपाय पर कार्यपत्र राखि विमर्श केँ आरम्भ करैथ। १० […]

कविताक शक्ति, विनोदक ताजाताजी पाँच कविता आ ओकर प्रभावक गहिंराइ

कविताक शक्ति, विनोदक ताजाताजी पाँच कविता आ ओकर प्रभावक गहिंराइ

मैथिली कविताक प्रभाव वर्तमान युगक कतेको रास नामी-गिरामी कवि-कथाकार-उपन्यासकार व साहित्यकार लोकनि सामाजिक संजाल – फेसबुक मंच केर उपयोग करैत अभरैत रहैत छथि। एहि क्रम मे श्रेष्ठतर स्रष्टा – साहित्य अकादमी सँ पर्यन्त सम्मानित श्री उदय चन्द्र झा विनोद नित्य एक नव रचनारूपी गहनाक संग मैथिली भाषा-साहित्यक सुन्दर स्वरूपकेँ सजबैत भेटैत छथि। दिल्ली विश्व पुस्तक […]

मिथिलाक राजनेता मे ऐगला ललित बाबू बनि सकता संजय झा?

मिथिलाक राजनेता मे ऐगला ललित बाबू बनि सकता संजय झा?

मिथिलाक विकासवादी नेता संजय झाः लोकमानस मे ऐगला ललित बाबूक रूपमे चर्चित – प्रवीण नारायण चौधरी मिथिलाक अपन अलग दाबेदारी बिहार अन्तर्गत पिछला १०६ वर्ष मे मिथिला अपन स्वत्व लगभग सब तरहें समाप्त कय चुकल अछि। बौद्धिक, साहित्यिक, आध्यात्मिक, दार्शनिक, पौराणिक, ऐतिहासिक – वर्तमान समय मिथिला आर एहि सँ जुड़ल पहिचानक वैशिष्ट्य – ई सबटा […]

भक्त प्रह्लाद सँ सीखू ई ५ बात – बालोपयोगी नैतिक कथा

भक्त प्रह्लाद सँ सीखू ई ५ बात – बालोपयोगी नैतिक कथा

होलीक उमंग बीच किछु एहेन सबक जे हमरा सबकेँ भक्त प्रह्लाद केर जीवन सँ सीखबाक चाही हरेक वर्ष होलीक पर्व अबैत अछि। लोक खुशी आ उल्लास सँ भरल माहौलमे होलिकाक दहन करैत छथि। फेर रंगक उत्सव होएत अछि। कतेको रास यादे राखय योग्य बातक संग होली हमरा सबसँ विदाई लैत अछि जाहिसँ फेर ऐगला वर्ष नव […]

मिथिलाको कला र वास्तुकला (स्थापत्य)

मिथिलाको कला र वास्तुकला (स्थापत्य)

आलेख – साभार प्रतीक डेली, विरगंज (नेपाल) सँ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक ‘क’वर्गीय पत्रिका सँ लेखकः प्रा. बासुदेवलाल दास, सहप्राध्यापक, इतिहास विभाग, ठाकुरराम बहुमुखी क्याम्पस, वीरगंज लेखकक बारेमेः मिथिलाक इतिहास आ पुरातात्विक सर्वेक्षणपर गहिंर शोध आ कतेको रास पुस्तक प्रकाशित छन्हि। मिथिलाक लोककला, संस्कृति आदिपर सेहो लेखक द्वारा समय-समयपर अनेकों स्तम्भ व आलेख सब नेपाली सहित अन्य-अन्य भाषाक […]

मिथिला विवाह संस्कार और मिथिला चित्रकलाः प्रसंग नवविवाहितों के लिये कोहबर सजाना

मिथिला विवाह संस्कार और मिथिला चित्रकलाः प्रसंग नवविवाहितों के लिये कोहबर सजाना

आलेख – राकेश झा ‘क्राफ्टवला’ मिथिला चित्रकला पर मिथिला की महिलाओं का एकाधिकार है। वे अपने आंगन की दीवारों को लीप पोत के उनपर अपनी कल्पनाओं को उकेर उनमें रंग भर जीवंत बना देती है । यह कला एक प्रकार का पारंपरिक चित्रकला है जो स्थानीय लोगों के जीवन शैली, परंपरा और संस्कृति सहित प्राकृतिक […]

Kobar – Special Mithila Painting With Valuable Teachings For Human Life

Kobar – Special Mithila Painting With Valuable Teachings For Human Life

आलेख – एस. सी. सुमन “KOBAR” Kohbar (nuptial chamber) painting is full of symbols which include all aspects of Maithili life with its wisdom full of practical meaning. The kohbar painting includes different symbolic expression that conveys special meanings according to the icons used there. Kohbar painting. Beside, parrot, tortoises, and fish are drawn representing […]

मिथिलाक जीवनशैली आ कोहवर केर महत्व

मिथिलाक जीवनशैली आ कोहवर केर महत्व

विमर्श – प्रवीण नारायण चौधरी जिज्ञासा जानकार सज्जन सँः विषय कोहवर आ मिथिलाक लोकपरम्परा विवाहोपरान्त वर-कनियां केर प्रथम मिलन लेल निर्मित पवित्र स्थल, एतय सृष्टि-चक्र केर भित्ति-चित्र अंकित करबाक परम्परा अछि मिथिला संस्कृति मे।   गर्व करबाक विषय ई भेल जे ‘सृष्टि-चक्र’ केँ दरसाबैत कोहवरक देवालपर चित्रक अंकन कोनो-न-कोनो रूपमे नवविवाहित जोड़ीकेँ विवाहोपरान्त सन्तानोत्पत्तिक अधिकार दैत […]

गुरुद्रोहक परिणतिः नैतिक पाठ, अवश्य पढी

गुरुद्रोहक परिणतिः नैतिक पाठ, अवश्य पढी

गुरुद्रोह केर परिणति   (एक नैतिक कथाः साभार अखिल विश्व गायत्री परिवार – अखण्ड ज्योति)   अनुवादः प्रवीण नारायण चौधरी   भूमिकाः सर्वप्रथम गुरुदेव – गुरुतुल्य – गुरुचरण केँ प्रणाम! ई कथा जरुरत मे राखि रहल छी, जेकरा पढिकय कतेको गुरुद्रोह कयनिहारक आँखि खुजैत अछि। वर्तमान समय मे एहि तरहक नैतिकताक सीख सिखनाय सभक लेल […]

Page 1 of 90123Next ›Last »