Home » Archives by category » Article

मिथिला रत्न केर खोज लेल वृहत् सहकार्यक आवश्यकता

मिथिला रत्न केर खोज लेल वृहत् सहकार्यक आवश्यकता

विचार – प्रवीण नारायण चौधरी मिथिला रत्न किनका मानल जाय   सामान्यतया अपन मिथिला सभ्यता लेल मूल्यवान् योगदान देनिहार व्यक्तित्व केँ ‘मिथिला रत्न’ कहल जा सकैत अछि। मुदा विगत कतेको समय सँ ‘मिथिला रत्न’ उपाधि सँ सम्मान प्रदान करबाक कार्य पर कइएक प्रकारक सवाल ठाढ़ कयल जेबाक कारणे हमहुँ दुविधा मे पड़ि गेल छी जे […]

दिल्ली विश्वविद्यालय मे मैथिलीक पढौनी पर भटकल आलोचना छन्हि प्रो. अपूर्वानन्द केर

दिल्ली विश्वविद्यालय मे मैथिलीक पढौनी पर भटकल आलोचना छन्हि प्रो. अपूर्वानन्द केर

२२ अक्टूबर २०१९. मैथिली जिन्दाबाद!! दिल्ली विश्वविद्यालय मे मैथिलीक पढौनी पर भटकल आलोचना छन्हि प्रो. अपूर्वानन्द केर   अपूर्वानन्द (दिल्ली विश्वविद्यालयक हिन्दी विभाग मे कार्यरत एसोशियेट प्रोफेसर) केर लेख “डीयू में मैथिली? राजनीति में इस्तेमाल की चीज रह गई है भाषा’ शीर्षक केर लेख पढल। कय बेर पढिकय हुनकर सब बात बुझबाक चेष्टा कयल। श्री […]

डा. बैद्यनाथ चौधरी बैजूक जन्मदिन पर प्रवीण शुभकामना

डा. बैद्यनाथ चौधरी बैजूक जन्मदिन पर प्रवीण शुभकामना

दिवस विशेष सन्देश – प्रवीण नारायण चौधरी डा. बैद्यनाथ चौधरी ‘बैजू’ केर जन्मदिन पर प्रवीण शुभकामना   मिथिलाक प्रणेता आ नेता डा. बैद्यनाथ चौधरी ‘बैजू’ केर आइ जन्मदिन होयबाक सूचना फेसबुक नोटिफिकेशन सँ प्राप्त भेल अछि। जनक-जानकीक मिथिला, विद्यापतिक मिथिला, सलहेश-दीनाभद्रीक मिथिला, कर्पूरी-लोहियाक मिथिला, डा. लखन बाबू आ जानकीनन्दन सिंह केर मिथिला, बाबूसाहेब चौधरी आ […]

गौतम बाबूक शक्ति पूजा

गौतम बाबूक शक्ति पूजा

कथा – किरण प्रभा गौतम बाबू क शक्ति पूजा न मन्त्रं नो यन्त्रं तदपि च न जाने स्तुतिमहो, न चाह्वानं ध्यानं तदपि च न जाने स्तुतिकथा:॥ अहि प्रकारे गौतम बाबू पहिल दिन अपन शक्ति पूजा क विराम देलैन। पूजा समाप्तिक संगे कानियां केँ आवाज लगेलैथ, “कतय छी यै! मरि गेलौं की जिबैत छी! हमर पूजा […]

गोपाल मोहन मिश्रक आधा दर्जन रचना

गोपाल मोहन मिश्रक आधा दर्जन रचना

साहित्यः किछु कविता – गोपाल मोहन मिश्र १. जिंदगी एक रहस्य जिबैत जिबैत जिंदगी नै पता कखनि जुआ भै गेल। समझलहुं जेकरा आगि, एक फूंक में धुआँ भै गेल। सभ किछु लगा दांव पर सभ किछु गेलहुं हम हारि। मन रहल पाषाण सन, ठाढ़ बीच बाज़ारि। गलत कौन सन बाज़ी, ग़लत कौन सन छल दांव। […]

शंभूक कनियाँक करबाचौथक व्रत (एकांकी नाटक)

शंभूक कनियाँक करबाचौथक व्रत (एकांकी नाटक)

एकांकी नाटक – रूबी झा सरपंच बाबू ‌आबि रहल छलाह ‌बाजार दिश सँ, बाटहि मे भेट गेलन्हि शंभू।   शंभू – काका प्रणाम।   सरपंच बाबू – खुश रह बच्चा। कतय चललें हें झोरा-झंडा टांगि।   शंभू – काका, काल्हि करबाचौथ छैक ने, तोहर पुतोहु (शंभू के कनियाँ) व्रत करथुन्ह, ताहि लेल किछु-किछु सामान आनय […]

प्रवीणक डायरी २०१३ – भाग २

प्रवीणक डायरी २०१३ – भाग २

१७ अक्टूबर २०१३, मैथिली जिन्दाबाद!! २०१३ ई. प्रवीणक जीवन मे बड़ा महत्वपूर्ण रहल, कारण यैह ओ वर्ष थिक जाहि मे मैथिली-मिथिलाक लेल सर्वाधिक प्रयास संभव भेल। दिसम्बर २०१३ केर सब पोस्ट ‘प्रवीणक डायरी २०१३ – भाग १’ मे समेटलाक बाद आब नवम्बर २०१३ केर पोस्ट केँ एतय समेटबाक प्रयास कय रहल छी। दिसम्बर १, २०१३ […]

सुशीला जेहेन सुशील कन्याक संग एहेन दुर्व्यवहार कियैक

सुशीला जेहेन सुशील कन्याक संग एहेन दुर्व्यवहार कियैक

कथा – सविता झा आइ जे कथा लिखल जा रहल अछि ओ वास्तविक घटना पर आधारित अछि। कलुवाही केर ढेंगा में सुशीला नामक लड़की रहैत छल्थिन्ह। जेहेने नाम छलन्हि सुशीला तेहने ओ सुशील स्वभाव केर छलथि। ओ मधुबनी सँ पढल-लिखल छलथि। पढ़य में ओ मेधावी छात्रा छलथि। देखय में सेहो बड़ सुन्दर रहथि। मिला-जुला कय […]

आत्मनिरीक्षण – बाबाधामक पेड़ा (प्रसाद)

आत्मनिरीक्षण – बाबाधामक पेड़ा (प्रसाद)

आध्यात्मिक चिन्तन – प्रवीण नारायण चौधरी आत्मनिरीक्षण – बाबाधामक पेड़ा (प्रसाद)   कइएक दिवस सँ दिमाग मे एकटा बात अबैत अछि – प्रवीण! तोरा स्वयं मे कतेक अभिमान छौक आ तूँ दोसर अभिमानी केँ देखैत देरी कतेक जल्दी उताहुल भऽ अपन अभिमान केँ उजागर करय लगैत छँ से कहियो आत्मनिरीक्षण कयलें? ई सवाल अपना आप […]

दुर्गा पूजाक ओ घड़ी – मर्दक बेटा घड़ी जे बजैय से बजिते रहत

दुर्गा पूजाक ओ घड़ी – मर्दक बेटा घड़ी जे बजैय से बजिते रहत

संस्मरण – रूबी झा वाणी दीदी के संस्मरण पढिकय हमरो अपन बालपन के दुर्गा पूजा मोन पड गेल।आ बहुत रास दृश्य आँखिक सामने आबि गेल। ओहि मे सँ किछु अपन पाठक लोकनि संग साझा कय रहल छी। हमरा गाँव मे तँ दुर्गा पूजा नहि होइत छलय, लेकिन अगल-बगल केर गाम मे होइत छलैक। बगले मे […]

Page 1 of 134123Next ›Last »