Home » Archives by category » Article

नेपाल, संघीयता, मधेश, मिथिला और नौटंकी विद्वान तथा ‘कचैल समाजशास्त्र’

नेपाल, संघीयता, मधेश, मिथिला और नौटंकी विद्वान तथा ‘कचैल समाजशास्त्र’

इस वार्ता में आपकी यदि रुचि हो तो जरूर अच्छी लगेगी। विषय मैथिली से जुड़ा था, बहस हिन्दी में हुई है। समय हो तो जरूर पढें।   विषय है वृहद्विष्णुपुराण में वर्णित मिथिला माहात्म्य जिसमें ऋषि पराशर के साथ मुमुक्षु मैत्रेयी विभिन्न जिज्ञासा के माध्यम से मिथिला वर्णन करने को कहती है। प्रसंग है कि […]

बिकायल विद्वान् द्वारा मिथिलाक इतिहास संग खुराफात, चोरी रंगे हाथ पकड़ल गेल

बिकायल विद्वान् द्वारा मिथिलाक इतिहास संग खुराफात, चोरी रंगे हाथ पकड़ल गेल

प्रसंग: मिथिलाक इतिहास पर जानि-बुझिकय प्रश्नचिह्न लगेबाक कुत्सित प्रयास एखन नेपाल मे नव-नव संघीयताक स्थापन भेल अछि। एतय कोसी सँ गंडकी धरिक एक भूखण्ड केँ प्रदेश २ केर  रूप मे मान्यता देल गेल अछि। नामकरण व राजकाजक भाषा लेल प्रदेश संसद पर भार अछि। चूँकि ऐतिहासिकता सँ लैत भाषा, संस्कृति आ प्राचीनता मे मिथिलाक अवधारणा […]

हरेक राज्य एक देश, हर राज्यक स्थानीय लोक लेल रोजगार आ शिक्षा राज्य सरकारक कर्तव्य: राज ठाकरे

हरेक राज्य एक देश, हर राज्यक स्थानीय लोक लेल रोजगार आ शिक्षा राज्य सरकारक कर्तव्य: राज ठाकरे

साभार: पंकज झा, छत्तीसगढ  (अनुवाद: प्रवीण नारायण चौधरी) उत्तर भारतीय केर पंचायत मे राज ठाकरेक भाषणक प्रमुख अंश सम्पूर्ण भाषण एहि लिंक पर सुनल जा सकैत अछि: – हिन्दी राष्ट्रभाषा नहि थिक. – संविधान ई कहैत अछि जे देश मे जँ कतहु अहाँ बाहर जाय तऽ थाना मे जानकारी दी. कोन काज करब, कतय रहब […]

मिथिलाक सामाजिक-राजनीतिक स्थिति नेपाल मे

मिथिलाक सामाजिक-राजनीतिक स्थिति नेपाल मे

नेपालदेशीय मिथिलाक सामाजिक-राजनीतिक स्थिति मिथिलाक वर्तमान भूगोल संवैधानिक रूप सँ मान्यता नहि पाबि सकल अछि, ई संघर्ष नाममात्र लेल जहिना भारतदेश मे जारी अछि किछु तहिना नेपालदेश मे सेहो। पिछला करीब तीन दशक मे नेपाल केर राजतंत्र सँ गणतंत्र मे परिणतिक विभिन्न आन्दोलन मे मिथिला राज्य संघर्ष समिति (जनकपुर) द्वारा संविधान सभा मे ‘मिथिला राज्य […]

मानव शरीर केर ज्ञात-अज्ञात शक्ति तथा कुण्डलिनी शक्तिक आरम्भिक चर्चा: दर्शन एवं ज्ञान

मानव शरीर केर ज्ञात-अज्ञात शक्ति तथा कुण्डलिनी शक्तिक आरम्भिक चर्चा: दर्शन एवं ज्ञान

स्वाध्याय आलेख कुण्डलिनी: एक परिचय   मनुष्यक भीतर कतेको प्रकारक शक्ति छुपल पड़ल अछि। बहुतो रास खोज कय लेल गेल अछि। बहुतो एखनहुँ धरि ताकले जेबाक क्रम मे अछि, आर बहुतो रास एहनो अछि जेकरा बारे हम सब जनिते नहि छी। शारीरिक शक्ति, बौद्धिक शक्ति, विचार शक्ति, इच्छा शक्ति, प्राणशक्ति, आत्मिक शक्ति, विश्लेषण शक्ति, स्मरण […]

डा. फणिकान्त मिश्र केर महत्वपूर्ण सृजन – रचनाक विवरण

डा. फणिकान्त मिश्र केर महत्वपूर्ण सृजन – रचनाक विवरण

मिथिलाक विशिष्ट विद्वान् – पुरातत्वविद्: डा. फणिकान्त मिश्र आदरणीय Phanikant Mishra सर, आइ भोरे-भोर जखन पिछला मेमोरी सब आयल छल तऽ अपनेक मुख्य अतिथिक रूप मे कोलकाताक “मैथिली महायात्रा” कार्यक्रम मोन पड़ैत रहल। आर, आइये संयोग सँ अपनेक मैसेज सेहो भेटल। अपार हर्ष भेल। संगहि अपन पाठक सब केँ ई जनतब दी जे हमरा लोकनिक बीच एखनहुँ […]

सब सभक अस्तित्व स्वीकार करय, एहि मे हित अछि: रोशन जनकपुरी

सब सभक अस्तित्व स्वीकार करय, एहि मे हित अछि: रोशन जनकपुरी

विचार – रोशन जनकपुरी नेपालमे मगही भ्रम बाहेक दोसर किछु नहि थिक। ई मुख्यतः गंगा नदीक ओहि पार अर्थात् दक्षिणपट्टी आर किछु भाग गंगाक उत्तरपट्टीक भाषा थिक। ओहि दिश सँ आयल किछु लोक नेपाल मे आयल तेकरा द्वारा बाजल जायब भऽ सकैत अछि। ताहि सम्बन्ध मे किछु नहि कहक अछि। वस्तुत: नेपाल मे आर प्रदेश नम्बर २ […]

आउ किछु सुनबैत छी – किसलय कृष्ण

आउ किछु सुनबैत छी – किसलय कृष्ण

गीत – किसलय कृष्ण मांगी नइ हम जे सुरूज की चान द’ दिअ । हेरायल सन हमर मैथिल पहिचान द’ दिअ । चाही नइ ग्लोबल वा त्लोबल जेना कोनो गाम, कने अंगना- दलान संग मचान द’ दिअ । हेरायल सन हमर मैथिल पहिचान द’ दिअ । सुआद ओ कहाँ छै एहि पेटीस आ पिज्जामे, बरु […]

कौआ आ मोर केर ओ कथा जेकर नैतिक शिक्षाक प्रासंगिकता आइ किछु बेसी बढल देखाइत अछि

कौआ आ मोर केर ओ कथा जेकर नैतिक शिक्षाक प्रासंगिकता आइ किछु बेसी बढल देखाइत अछि

नैतिक कथा (संकलन व अनुवाद: प्रवीण नारायण चौधरी) कौआ आ मोर एक दिन एक गोट कौआ जंगल मे मोर केर बहुतेरास पाँखि एम्हर-ओम्हर खसल देखि प्रसन्न होइत कहय लागल –   “वाह भगवान्!! बड पैघ कृपा केलहुँ अपने जे हमर मोनक बात सुनि लेलहुँ। हम एखनहिं ई पाँखि पहिरिकय खूब सुन्दर मोर बनि जाइत छी।” […]

नवतुरिया मैथिल सर्जक लेल सन्देश – सकारात्मक सृजनशीलता सँ सार्थक दिशा मे अग्रसर होउ

नवतुरिया मैथिल सर्जक लेल सन्देश – सकारात्मक सृजनशीलता सँ सार्थक दिशा मे अग्रसर होउ

विचार नवतुरिया मैथिली साहित्यकार (नेपाल) प्रति लक्षित संबोधन – प्रवीण नारायण चौधरी नेपाल सँ मैथिली लेखकक परिचय संकलन मे एक अनुज शिवम प्रशान्त मैसेज कय केँ बतेलथि जे भाइजी – अपन किछु रचना अहाँ केँ मेल पर पठेने छी। तहिना विगत २-३ दिन मे आरो बहुत रास रचनाकार लोकनि अपन-अपन रचना मेल द्वारा पठौलनि अछि। […]

Page 1 of 108123Next ›Last »